Thursday, 2 February, 2023
होमदेश6629 पन्ने, 150 गवाह: श्रद्धा के किसी दूसरे दोस्त से मिलने से नाराज था पूनावाला- चार्जशीट में दिल्ली पुलिस

6629 पन्ने, 150 गवाह: श्रद्धा के किसी दूसरे दोस्त से मिलने से नाराज था पूनावाला- चार्जशीट में दिल्ली पुलिस

दिल्ली पुलिस द्वारा मंगलवार को दायर की गई 6,629 पन्नों की चार्जशीट के अनुसार, इस कपल के बीच लड़ाई हुई और पूनावाला ने 'गुस्से में' उसकी हत्या कर दी.

Text Size:

नई दिल्ली: दिल्ली पुलिस ने मंगलवार को कहा कि श्रद्धा वालकर किसी अन्य दोस्त से मिलने गई थी, जो आफताब पूनावाला को पसंद नहीं आया और वह गुस्सा हो गया.

पुलिस ने मंगलवार को यहां साकेत अदालत में श्रद्धा हत्याकांड में पूनावाला के खिलाफ 6,629 पन्नों का आरोप पत्र दायर किया, जिसने उसकी न्यायिक हिरासत दो सप्ताह के लिए बढ़ाकर सात फरवरी तक कर दी.

संयुक्त पुलिस आयुक्त (दक्षिण) मीनू चौधरी ने कहा, ‘‘घटना वाले दिन वालकर अपने एक दोस्त से मिलने गई थी, जो पूनावाला को पसंद नहीं आया, जिसके बाद वह हिंसक हो गया और उसने इस घटना को अंजाम दिया.’’

पुलिस ने बताया कि मंगलवार को भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा 302 और 201 के तहत आरोप पत्र दाखिल किया गया. उन्होंने कहा कि 150 से अधिक गवाहों के बयान दर्ज किए गए.

पूनावाला पर पिछले साल मई में अपनी ‘लिव-इन पार्टनर’ वालकर की गला घोंटकर हत्या करने और शव के टुकड़े कर उन्हें कई दिनों तक शहर के विभिन्न हिस्सों में ठिकाने लगाने का आरोप है.

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

दिल्ली पुलिस द्वारा मंगलवार को दाखिल की गई 6,629 पन्नों की चार्जशीट के मुताबिक, इसी वजह से दोनों के बीच लड़ाई हुई और पूनावाला ने गुस्से में आकर उसकी हत्या कर दी.

दिल्ली पुलिस के सूत्रों ने बताया कि श्रद्धा उस दोस्त से मिलने गई थी जिससे वह गुड़गांव में एक डेटिंग प्लेटफॉर्म पर मिली थी. सूत्र ने कहा, “लड़ाई लगभग 30 मिनट तक चली क्योंकि आफताब गुस्से में था कि वह उस दूसरे व्यक्ति से मिली थी.”

दिल्ली पुलिस के सूत्रों के मुताबिक, श्रद्धा 27 साल के एक अन्य व्यक्ति से मिलने गई थी, इस दोस्त से वह डेटिंग प्लेटफॉर्म पर मिली थी और जब वह वापस लौटी तो दोनों में लड़ाई शुरू हो गई .

सूत्र ने कहा, “जब वह वापस आई तो उनके बीच झगड़ा शुरू हो गया और आफताब ने शाम के समय उसकी हत्या कर दी.”

संयुक्त पुलिस आयुक्त (दक्षिण) मीनू चौधरी ने मंगलवार को एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा, “आफताब को यह पसंद नहीं था कि वह एक दोस्त से मिलने गई थी. ”

दिल्ली पुलिस के सूत्रों ने बताया कि श्रद्धा के कुल 16 शरीर के टुकड़े पिता के डीएनए से मेल खाते हैं. एक अन्य सूत्र ने कहा, “कुछ अन्य टुकड़े भी एकत्र किए गए थे, हालांकि उनकी स्थिति के कारण डीएनए नहीं निकाला जा सका. आरोपी की निशानदेही पर ही सभी शवों को एकत्र किया गया था. ”

सूत्रों ने बताया कि 16 शवों के अवशेषों में हड्डियां, जबड़ा, श्रोणि और श्रद्धा के बाल शामिल हैं.

पुलिस ने कहा है कि श्रद्धा के शरीर को काटने के लिए कई हथियारों का इस्तेमाल किया गया था, जो अपराध स्थल से बरामद किए गए थे, “उसने पूछताछ के दौरान खुलासा किया कि उसने शरीर को काटने के लिए कई हथियारों का इस्तेमाल किया. कुछ कैंची, चाकू और एक हथौड़ा मिला है. हालांकि चॉपर और आरा नहीं मिला है.’


यह भी पढ़ें: ‘हम भगवान राम के सिद्धांतों पर चलते हैं’- MLC मौर्य के रामचरितमानस वाले बयान से सपा ने खुद को किया दूर


 

share & View comments