scorecardresearch
Friday, 12 July, 2024
होमदेश‘युवा इनोवेशन की धरती’, हेलीकॉप्टर फैक्ट्री के उद्घाटन में बोलें PM- बढ़ रही है मेड इन इंडिया की ताकत

‘युवा इनोवेशन की धरती’, हेलीकॉप्टर फैक्ट्री के उद्घाटन में बोलें PM- बढ़ रही है मेड इन इंडिया की ताकत

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज कर्नाटक के तुमकुरु में हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (एचएएल) की हेलीकॉप्टर फैक्ट्री का उद्घाटन किया. यह हेलीकॉप्टर फैक्ट्री एशिया की सबसे बड़ी हेलीकॉप्टर निर्माण सुविधा के साथ लाइट यूटिलिटी हेलीकॉप्टर (एलयूएच) का उत्पादन करेगी.

Text Size:

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को कर्नाटक के तुमकुरु में हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (एचएएल) की हेलीकॉप्टर फैक्ट्री का उद्घाटन किया. यह एक नई ग्रीनफील्ड हेलीकॉप्टर फैक्ट्री है जो देश में हेलीकॉप्टर बनाने की क्षमता  को बढ़ाएगी.

इस अवसर पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई भी उपस्थित रहें.

पीएम मोदी ने फैक्ट्री के उद्घाटन के बाद संबोधन में कहा, ‘दुनिया कर्नाटक की विनिर्माण ताकत को पहचान रही है और डबल इंजन सरकार ने सुनिश्चित किया है कि राज्य निवेशकों की पहली पसंद बने. आज यहां हेलीकॉप्टर कारखाने के उद्घाटन से ये बात और साफ़ हो गयी है.’

एशिया की सबसे बड़ी हेलीकॉप्टर निर्माण सुविधा, यह हेलीकॉप्टर फैक्ट्री शुरुआत में लाइट यूटिलिटी हेलीकॉप्टर (एलयूएच) का उत्पादन करेगी.

प्रधानमंत्री ने आगे कहा, ‘आने वाले समय में तुमकुरु में ही सैकड़ों हेलीकॉप्टर बनने वाले हैं और इससे करीब 4 लाख करोड़ रुपए का बिजनेस होगा. जब इस प्रकार मैन्युफैक्चरिंग की फैक्ट्रियां लगती हैं तो हमारे सेना की ताकत तो बढ़ती ही है, साथ ही हजारों रोजगार और स्वरोजगार के अवसर भी मिलते हैं.’

शनिवार को सरकार ने सूचित किया था कि एलयूएच स्वदेशी रूप से डिजाइन और विकसित 3-टन क्लास, सिंगल-इंजन मल्टीपरपज यूटिलिटी हेलीकॉप्टर है, जिसमें उच्च गतिशीलता की अनूठी विशेषताएं है.

युवा टैलेंट

पीएम ने आगे कहा कि कर्नाटक युवा टैलेंट, युवा इनोवेशन की धरती है. ड्रोन मैन्युफैक्चरिंग से लेकर तेजस फाइटर प्लेन बनाने तक, कर्नाटका के मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर की ताकत को दुनिया देख रही है.

उन्होंने आगे कहा, ‘संतों के आशीर्वाद से आज कर्नाटक के युवाओं को रोजगार देने वाले, ग्रामीणों और महिलाओं को सुविधा देने वाले, देश की सेना और मेड इन इंडिया को ताकत देने वाले सैकड़ों करोड़ परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास हुआ है.’

यह उद्घाटन भारत को हेलीकॉप्टरों की अपनी संपूर्ण आवश्यकता को स्वदेशी रूप से पूरा करने में सक्षम बनाएगी और भारत में हेलीकॉप्टर डिजाइन, विकास और निर्माण में आत्मनिर्भरता का गौरव प्राप्त करेगी.

कारखाने में उद्योग 4.0 मानकों का विनिर्माण सेट-अप होगा. अगले 20 वर्षों में, एचएएल तुमकुरु से 3-15 टन के वर्ग में 1000 से अधिक हेलीकाप्टरों का उत्पादन करने की योजना बना रहा है. इससे प्रदेश में करीब छह हजार लोगों को रोजगार मिलेगा.


यह भी पढ़ें: ‘दोस्ती, बगावत और आरोप’, कुशवाहा ने बुलाई JDU की मीटिंग तो नीतीश बोले- ‘दूसरे की भाषा बोल रहे हैं’


share & View comments