scorecardresearch
Wednesday, 28 February, 2024
होमदेशछत्तीसगढ़ में 4 लोगों ने किया 32 साल की नर्स के साथ रेप, एक नाबालिग समेत 3 अरेस्ट

छत्तीसगढ़ में 4 लोगों ने किया 32 साल की नर्स के साथ रेप, एक नाबालिग समेत 3 अरेस्ट

एफआईआर के अनुसार, आरोपी ने शुरू में उसके साथ बलात्कार करने से पहले उसे रस्सी से बांध दिया. चारों आरोपियों ने मारपीट का वीडियो बना लिया और पुलिस को फोन करने पर जान से मारने की धमकी दी.

Text Size:

नई दिल्ली: छत्तीसगढ़ के कोरिया जिले के एक गांव के एक स्वास्थ्य केंद्र में 17 साल के एक नाबालिग समेत चार लोगों ने 32 वर्षीय नर्स के साथ कथित तौर पर सामूहिक बलात्कार किया. पुलिस अधिकारियों ने रविवार को यह जानकारी दी. यह
घटना गांव में शुक्रवार यानी 21 अक्टूबर दोपहर को हुई. एएनआई की रिपोर्ट के मुताबिक, महिला आदिवासी समुदाय से ताल्लुक रखती है.

झागराखंड कस्बे के थाना प्रभारी (एसएचओ) दीपक सैनी ने कहा कि घटना गांव के एक सरकारी सुविधा उप-स्वास्थ्य केंद्र में हुई.

सहायक पुलिस अधीक्षक (एएसपी) निमेश बरैया ने कहा, ‘महिला ने शिकायत दर्ज कराई है. तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है.’

बता दें कि दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है, नाबालिग को हिरासत में लिया गया है. पुलिस अधिकारियों ने बताया कि फरार आरोपी की तलाश की जा रही है.

एसएचओ ने कहा कि चारों आरोपियों ने केंद्र में काम करने वाली महिला को देखा. वे इमारत में घुसे, उसे बांधा, उसका गला घोंट दिया और उसके साथ बारी-बारी से बलात्कार किया. नर्स केंद्र में अकेली काम कर रही थी क्योंकि दिवाली के लिए बाकी सभी लोग बाहर थे. एसएचओ ने कहा कि वह केंद्र से निकलने ही वाली थी कि चारों आरोपी आ गए, चाकू से धमकाया और बंधक बना लिया.

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

एफआईआर के अनुसार, आरोपी ने शुरू में उसके साथ बलात्कार करने से पहले उसे रस्सी से बांध दिया. चारों आरोपियों ने मारपीट का वीडियो बना लिया और पुलिस को फोन करने पर जान से मारने की धमकी दी. लेकिन जैसे ही वह अपने घर पहुंची तो उसने अपने माता-पिता को घटना के बारे में बताया. अगली सुबह, उसके माता-पिता उसे पुलिस स्टेशन ले गए जहां उसने प्राथमिकी दर्ज की. महिला चारों आरोपियों को जानती थी.

एसएचओ सैनी ने बताया कि आरोपी के खिलाफ भारतीय दंड संहिता, अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति (अत्याचार निवारण अधिनियम), शस्त्र अधिनियम और सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम के प्रासंगिक प्रावधानों के तहत मामला दर्ज किया गया है.

घटना के बाद, भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के कार्यकर्ताओं ने छत्तीसगढ़ की भूपेश भागेल के नेतृत्व वाली सरकार के खिलाफ थाने के बाहर धरना दिया. उन्होंने आरोपितों के खिलाफ त्वरित एवं सख्त कार्रवाई की मांग की.

मनेंद्रगढ़ विधायक व कांग्रेस नेता विनय जायसवाल भी थाने पहुंचे और आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की.

(इस खबर को अंग्रेजी में पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें)


यह भी पढ़ेंः मुस्लिम सिक्कों पर शिव के बैल: हिंदू तुर्क शाह की अजीब दुनिया


share & View comments