scorecardresearch
Thursday, 25 April, 2024
होमदेशपूर्वोत्तर भारत में अगले कुछ दिन और हो सकती है भारी बारिश, असम में बाढ़ से 2 लाख से ज्यादा लोग प्रभावित

पूर्वोत्तर भारत में अगले कुछ दिन और हो सकती है भारी बारिश, असम में बाढ़ से 2 लाख से ज्यादा लोग प्रभावित

16 मई तक असम में बाढ़ से कुल 92,119 पुरुष, 68,740 महिलाएं और 36,389 बच्चे प्रभावित हुए हैं. 17 मई को इस आंकड़े में और बढ़ोतरी हुई है.

Text Size:

नई दिल्ली: उत्तर भारत जहां एक तरफ हीटवेव से जूझ रहा है वहीं पूर्वोत्तर भारत के कई राज्य भारी बारिश के कारण बाढ़ की चपेट में है. भारी बारिश के कारण ट्रेन सेवाओं पर भी बुरा असर पड़ा है. भारतीय वायु सेना, एनडीआरएफ, एसडीआरएफ की टीमें राहत कार्यों में जुटी है.

असम में लगातार बारिश के कारण आए भूस्खलन की वजह से रेल और सड़क से संपर्क टूट गया है वहीं राज्य के 2 लाख से ज्यादा लोग इससे प्रभावित हुए हैं. बाढ़ के कारण अब तक 5 लोगों की मौत भी हुई है जिसमें कछार जिले में 2 और दीमा हसाओ में तीन लोगों की मौत हुई है.

असम के भेरभेरी इलाके में स्थिति काफी खराब है. इस क्षेत्र में एसडीआरएफ रेस्क्यू ऑपरेशन चला रही है.

डोबोका क्षेत्र के पुलिस अधिकारी बिपिन बोराह ने बताया कि होजाई में स्थिति काफी खराब है. उन्होंने कहा, ‘एसडीआरएफ और आपात सेवाओं के जरिए मदद की जा रही है. स्थानीय नावों का भी रेस्क्यू करने में इस्तेमाल किया जा रहा है.’

उन्होंने बताया, ‘कई गांव बाढ़ से प्रभावित हुए हैं. भारी बारिश के कारण बाढ़ आई है.’

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

असम राज्य आपदा प्रबंधन (एसडीआरएफ) के मुताबिक राज्य में 1 मई से 16 मई के बीच 592.6 मिलीमीटर बारिश हुई है. बीते 72 घंटों में भारी बारिश के कारण असम के 20 से ज्यादा जिले प्रभावित हुए हैं वहीं 800 से ज्यादा गांवों पर सीधा असर पड़ा है.

अरुणाचल प्रदेश में भी बारिश के बाद हुए भूस्खलन के कारण करीब 5 लोगों की मौत हुई है. अरुणाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री पेमा खांडू ने इस पर शोक प्रकट किया.


यह भी पढ़ें: बड़े स्तर पर छटनी, ऑफलाइन क्लास: स्कूल, कॉलेज के फिर से खुलने पर एडटेक कंपनियों के सामने क्या हैं चुनौतियां


अगले 5 दिन जारी रह सकती है भारी बारिश: आईएमडी

भारत मौसम विभाग (आईएमडी) ने भी मंगलवार को चेतावनी जारी करते हुए कहा कि बंगाल की खाड़ी से पूर्वोत्तर और पूर्वी भारत की तरफ तेज दक्षिण-पश्चिम हवाओं के कारण भारी बारिश और तूफान की संभावना है. भारी बारिश अगले 5 दिनों तक हो सकती है.

आईएमडी के मुताबिक 17 और 18 मई को मेघालय में अलग-अलग स्थानों पर अत्यधिक भारी वर्षा होने की संभावना है.

पूर्वोत्तर सीमांत रेलवे (एनएफआर) ने एक विज्ञप्ति में बताया कि भारी भूस्खलन और लगातार बारिश की वजह से पटरियों पर जलजमाव होने के कारण असम के लुमडिंग-बदरपुर पहाड़ी खंड में दो दिनों से फंसी दो ट्रेनों के लगभग 2800 यात्रियों को निकालने का काम सोमवार को वायु सेना और अन्य एजेंसियों की मदद से पूरा हो गया.

असम राज्य आपदा प्रबंधन के मुताबिक ब्रह्मपुत्र नदी और कोपली नदी खतरे के निशान से ऊपर बह रही है .

राज्य आपदा प्रबंधन के मुताबिक 20 प्रभावित जिलों में बाजली, बाक्सा, बिस्वनाथ, कछार, चराईदेव, दरांग, धेमाजी, डिब्रूगढ़, दीमा हसाओ समेत अन्य जिले हैं. मेघालय और सिक्किम भी भारी बारिश से काफी प्रभावित हुए हैं.

गौरतलब है कि असम में बाढ़ प्रभावित जिलों में 72 राहत कैंप बनाए गए हैं जहां 33 हजार से ज्यादा लोगों को सुरक्षित पहुंचाया गया है. वहीं बाढ़ के कारण 20,587 हेक्टर जमीन पर लगी फसल को भी नुकसान पहुंचा है.

16 मई तक असम में बाढ़ से कुल 92,119 पुरुष, 68,740 महिलाएं और 36,389 बच्चे प्रभावित हुए हैं. 17 मई को इस आंकड़े में और बढ़ोतरी हुई है.


यह भी पढ़ें: प्लेऑफ की उम्मीदों को बनाये रखने के लिए केकेआर को लखनऊ के खिलाफ बड़ी जीत की जरूरत


 

share & View comments