News on politics
पी चिदंबरम की फाइल फोटो | पीटीआई
Text Size:
  • 68
    Shares

नई दिल्ली : पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम ने बुधवार को वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) प्रणाली के घोषित लक्ष्यों में किए गए बदलाव पर सवाल उठाते हुए कहा कि इसे क्यों बदला जा रहा है. वरिष्ठ कांग्रेसी नेता ने लगातार ट्वीट करते हुए कहा, ‘कल तक जीएसटी की एकल मानक दर एक बेवकूफाना विचार था. कल से यह सरकार का घोषित लक्ष्य है.’

उन्होंने कहा, ‘कल तक जीएसटी की उच्चतम दर 18 फीसदी अव्यवहारिक थी. कल से कांग्रेस पार्टी की 18 फीसदी उच्चतम दर की वास्तविक मांग सरकार का घोषित लक्ष्य हो गई है.’

उन्होंने कहा, ‘कल तक, मुख्य आर्थिक सलाहकार की मानक दर को 15 फीसदी करने की आरएनआर रिपोर्ट कूड़ेदान में थी. कल इसे निकाला गया और विदेश मंत्री की मेज पर पेश किया गया और तुरंत स्वीकार कर लिया गया.’

पूर्व वित्त मंत्री ने ये ट्वीट वित्त मंत्री अरुण जेटली के सोमवार को यह संकेत देने के दो दिनों बाद ही किए हैं कि देश में अंतत: जीएसटी की मानक दर एक ही हो सकती है. उन्होंने कहा था कि जल्द ही लग्जरी और ‘सिन गुड्स’ को छोड़कर अन्य सभी वस्तुओं पर 28 फीसदी जीएसटी स्लैब खत्म किया जा सकता है.

उन्होंने एक फेसबुक पोस्ट में यह भी कहा कि मानक दर 12 से 18 फीसदी के बीच हो सकती है.

जेटली का जीएसटी ब्लॉग तीन हिंदी भाषी राज्यों – छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश और राजस्थान के चुनाव परिणाम आने के एक पखवाड़े के बाद आया है. 2019 के आम चुनाव से कुछ महीनों पहले आए ये चुनाव परिणाम केंद्र में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी के पक्ष में नहीं रहे थे.


  • 68
    Shares
Share Your Views

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here