scorecardresearch
Thursday, 13 June, 2024
होमदेशअर्थजगतरुझानों में बीजेपी के बहुमत के आंकड़े से पीछे होते देख सेंसेक्स 2000 और निफ्टी 600 अंक नीचे गिरा

रुझानों में बीजेपी के बहुमत के आंकड़े से पीछे होते देख सेंसेक्स 2000 और निफ्टी 600 अंक नीचे गिरा

शुरुआती रुझानों में भारतीय जनता पार्टी के नेतृत्व वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन को सिर्फ 302 सीटों पर बढ़त दिखाई गई, जो एग्जिट पोल में लगाए गए अनुमान से कम है.

Text Size:

नई दिल्ली: मंगलवार को मतगणना के दिन शुरुआती दौर में सेंसेक्स में करीब 2,000 अंकों की गिरावट आई, जबकि निफ्टी में करीब 600 अंकों की गिरावट आई. शुरुआती रुझानों में भारतीय जनता पार्टी के नेतृत्व वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन को सिर्फ 302 सीटों पर बढ़त दिखाई गई, जो एग्जिट पोल में लगाए गए अनुमान से कम है.

शेयर बाजारों में गिरावट – अब तक 2-3 प्रतिशत के बीच – सोमवार, जो कि एग्जिट पोल के नतीजों के बाद कारोबार का पहला दिन था, को सेंसेक्स और निफ्टी में क्रमशः 3.4 प्रतिशत और 3.25 प्रतिशत की तेजी के एक दिन बाद आई है. इस दिन नरेंद्र मोदी की भारी जीत की भविष्यवाणी की गई थी.

सेंसेक्स में शामिल 30 कंपनियों में से सिर्फ छह शेयर में सकारात्मक रुझान दिखा था. इनमें फास्ट-मूविंग कंज्यूमर गुड्स स्पेस के शेयर – हिंदुस्तान यूनिलीवर, नेस्ले इंडिया और एशियन पेंट्स – के साथ-साथ इंफोसिस, टाइटन और सन फार्मा शामिल थे.

जियोजित फाइनेंशियल सर्विसेज के मुख्य निवेश रणनीतिकार वी.के. विजयकुमार ने कहा, “अगर भाजपा को अपने दम पर बहुमत नहीं मिलता है, तो निराशा होगी और इसका असर बाजार पर भी पड़ेगा.”

उन्होंने कहा, ‘‘अगर भाजपा को अपने दम पर बहुमत नहीं मिलता है तो निराशा होगी और इसका असर बाजार पर दिखेगा.”

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

साथ ही, यह भी संभव है कि मोदी 3.0 बाजार की उम्मीदों के मुताबिक सुधार-उन्मुख न हो और यह अधिक कल्याण-उन्मुख हो जाए।” “यह एफएमसीजी शेयरों में मजबूती के रूप में दिखाई दे रहा है।”

उन्होंने कहा, “इसके अलावा यह भी संभव है कि मोदी 3.0 बाजार की उम्मीदों के मुताबिक सुधार-उन्मुख न हो और यह अधिक वेलफेयर-उन्मुख हो जाए. यह एफएमसीजी शेयरों में मजबूती के रूप में परिलक्षित हो रहा है.”


यह भी पढ़ेंः सिरसा में कांग्रेस की कुमारी शैलजा भाजपा के अशोक तंवर से 42,000 वोटों से आगे


 

share & View comments