scorecardresearch
Tuesday, 11 June, 2024
होमदेशअपराध‘सोशल मीडिया से संपर्क, मुनाफे का वादा’, नोएडा में निवेश के नाम पर 84 लाख की ठगी के पीछे की कहानी क्या है

‘सोशल मीडिया से संपर्क, मुनाफे का वादा’, नोएडा में निवेश के नाम पर 84 लाख की ठगी के पीछे की कहानी क्या है

साइबर अपराध थाना प्रभारी निरीक्षक ने बताया कि सेक्टर 50 निवासी संजय शर्मा ने रिपोर्ट दर्ज कराई है कि सोशल मीडिया के माध्यम से कुछ लोगों ने उनसे संपर्क किया तथा निवेश का झांसा देकर उन्हें अपने जाल में फंसाया.

Text Size:

नई दिल्ली: नोएडा में साइबर ठगों ने एक व्यक्ति और उसके परिवार से 84 लाख रुपये की ठगी कर ली. पीड़ित ने घटना की शिकायत साइबर अपराध थाने में दर्ज कराई है. पुलिस ने यह जानकारी दी.

साइबर अपराध थाना प्रभारी निरीक्षक ने बताया कि सेक्टर 50 निवासी संजय शर्मा ने रिपोर्ट दर्ज कराई है कि सोशल मीडिया के माध्यम से कुछ लोगों ने उनसे संपर्क किया तथा निवेश का झांसा देकर उन्हें अपने जाल में फंसाया.

शर्मा ने शिकायत में कहा कि आरोपियों ने निवेश के बाद मोटी रकम मुनाफे के रूप में देने का आश्वासन दिया था. आरोपियों ने उनके फोन पर एक लिंक भेजा और व्हाट्सऐप ग्रुप पर जोड़ने के बाद उनसे शेयर बाजार में निवेश करने के नाम पर लाखों रुपये का निवेश करवाया.

पुलिस अधिकारी ने बताया कि पीड़ित को निवेश की गई रकम पर हर रोज ऐप पर बढ़ी हुई रकम दिखाई देती थी, जिसके बाद उन्होंने अपने बेटों और अन्य लोगों से भी निवेश करवाया. आरोपियों ने पीड़ित और उसके परिवार के लोगों से कुल 84 लाख रुपये ठग लिया.

साइबर ठगी के एक अन्य मामले में पार्ट टाइम नौकरी कर घर बैठे लाखों रुपये कमाने का झांसा देकर साइबर ठगों ने एक जिम संचालिका से 12 लाख रुपये की ठगी कर ली.

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

आरोपियों ने ‘टेलीग्राम ग्रुप’ पर जोड़कर ठगी की घटना को अंजाम दिया. महिला ने ठगी की शिकायत साइबर अपराध थाने में की है.

नोएडा के सेक्टर 36 स्थित साइबर अपराध थाना प्रभारी निरीक्षक ने बताया कि शिकायत में सेक्टर-143 स्थित एक सोसाइटी की निवासी महिला ने आरोप लगाया है कि बीते दिनों उनके मोबाइल पर एक मैसेज आया था जिसमें घर बैठे पार्ट टाइम नौकरी कर धन कमाने की बात कही गई थी. मैसेज में दिए गए नंबर पर जवाब भेजने के बाद जालसाजों ने महिला को एक टेलीग्राम ग्रुप में जोड़ दिया, जिसमें कुछ सदस्य पहले से ही थे.

पुलिस ने बताया कि प्रारंभिक टास्क पूरा करने के बाद महिला को कुछ मुनाफा भी मिला. इसके बाद ‘प्रीपेड टास्क’ का हवाला देकर उसे निवेश करने के लिए कहा गया और इसे टास्क का हिस्सा बताया गया तथा इसके बाद मुनाफा मिलने की बात कही गई.

उन्होंने बताया कि महिला ने कई बार में कुल 12 लाख रुपये जालसाज के बताए खाते में हस्तांतरित किए. महिला पर जब और पैसे निवेश करने का दबाव बनाया जाने लगा तो उसे ठगी की आशंका हुई. पैसे वापस मांगने पर जालसाजों ने पूरी तरह से संपर्क तोड़ दिया. शिकायतकर्ता महिला एक फिटनेस क्लास की संचालिका है. पुलिस सभी पहलुओं को ध्यान में रखकर मामले की जांच कर रही है.

(भाषा के इनपुट के साथ)


यह भी पढ़ें: बम्बल ऐप केस: जिंदल यूनिवर्सिटी की प्रोफेसर पर क्लास में ‘डेटिंग प्रोफाइल दिखाने’ के लिए शिकायत दर्ज


 

share & View comments