Thursday, 7 July, 2022
होमदेशपंजाब में यौन शोषण की शिकार छात्रा ने कहा- 6ठीं क्लास में थी मैं, प्रिंसिपल ने नशे की दवा देकर किया रेप

पंजाब में यौन शोषण की शिकार छात्रा ने कहा- 6ठीं क्लास में थी मैं, प्रिंसिपल ने नशे की दवा देकर किया रेप

पासीवाल स्कूल में 10वीं कक्षा तक पढ़ने वाली पीड़िता ने आरोप लगाया कि कम से कम 3-4 अलग-अलग मौकों पर उसके साथ बलात्कार किया गया. हालांकि, उसने कभी भी अपने माता-पिता को इस बारे में सूचित नहीं किया.

Text Size:

नई दिल्ली: 16 फरवरी को, पंजाब के नंगल शहर में एक 26 वर्षीय महिला व्हाट्सएप पर फॉरवर्ड किए गए एक वीडियो को देखकर जाग गई – यह वीडियो 12 साल पहले का था जिसमें कथित तौर पर उसके स्कूल प्रिंसिपल ने महिला के साथ बलात्कार किया था. उस समय महिला किशोरावस्था में थी.

यह नांगरान कलमोट और पासीवाल गांवों (रूपनगर जिले के नांगल के पास) में एसडी नेशनल स्कूल के प्रिंसिपल अमृतपाल धीमन के 190 से अधिक आपत्तिजनक वीडियो और तस्वीरों में से एक था, जिन पर एक विवादास्पद मामले में तीन नाबालिग लड़कियों का यौन उत्पीड़न करने का आरोप लगाया गया है.

यह महिला कथित तौर पर उन तीन पीड़ितों में से एक है जिनको 2010 के विजुअल्स में देखा गया था और जो 15 फरवरी को ऑनलाइन लीक हो गए थे.

कथित दुर्व्यवहार के बारे में दिप्रिंट से बात करते हुए महिला ने कहा: ‘यह स्कूल के समय के दौरान हुआ करता था. मैं उस समय छठी कक्षा में थी. स्कूल की वॉइस प्रिंसिपल (महिला) हमें प्रिंसिपल ऑफिस में ले जाती थी. फिर प्रिंसिपल हमें नशे की दवाएं देते थे. मुझे नहीं पता कि वह इसके बाद क्या किया करते थे क्योंकि मैं दवाओं के प्रभाव की वजह से मैं नशे में होती थी. महिला के मुताबिक, दवा को पानी या किसी पेय के साथ दिया जाता था.

पासीवाल स्कूल में 10वीं कक्षा तक पढ़ने वाली पीड़िता ने आरोप लगाया कि कम से कम 3-4 अलग-अलग मौकों पर उसके साथ बलात्कार किया गया. हालांकि, उसने कभी भी अपने माता-पिता को इस बारे में सूचित नहीं किया. उसने अनुरोध किया कि उस गांव का नाम रिपोर्ट में नहीं डाला जाए जहां अब रहती है.

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

पीड़िता ने नांगल में न्यायिक मजिस्ट्रेट के सामने दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 164 के तहत बयान दर्ज कराया है.

जांच अधिकारी सहायक उप निरीक्षक नवदीप कौर ने कहा कि पीड़िता ने पुलिस को दिए अपने बयान में वाइस प्रिंसिपल पर आरोप नहीं लगाया. हालांकि, पुलिस आरोपों की जांच करेगी.

पुलिस, अश्विनी कुमार द्वारा 20 फरवरी को नंगल पुलिस स्टेशन में धीमन के खिलाफ दर्ज प्राथमिकी के आधार पर मामले की जांच कर रही है. अश्विनी कुमार सामाजिक कार्यकर्ता समूह भीम आर्मी के सदस्य और हाल ही में पंजाब में हुए विधानसभा चुनाव (जिसके परिणाम अभी घोषित किए जाने बाकी हैं) में श्री आनंदपुर साहिब से निर्दलीय उम्मीदवार हैं.

कुमार को उम्मीद है कि अधिक महिलाएं आगे आएंगी और धीमान के खिलाफ शिकायत दर्ज कराएंगी. उन्होंने दिप्रिंट को बताया, ‘मैं वर्तमान में अधिक पीड़ितों के संपर्क में हूं, और मुझे यकीन है कि वे न्यायाधीश के सामने बयान देने के लिए आगे आएंगी.’

धीमन के खिलाफ वर्तमान में भारतीय दंड संहिता की धारा 376 (2) (बलात्कार करने के लिए पदीय शक्ति का दुरुपयोग करना) और यौन अपराधों से बच्चों का संरक्षण (पोक्सो) अधिनियम की प्रासंगिक धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है.

धीमन के साथ, नांगराण में एक स्थानीय फार्मेसिस्ट शिव कुमार को भी पोक्सो की धाराओं के तहत फुटेज को रखने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है. पुलिस अभी भी जांच कर रही है कि 12 साल बाद फुटेज कैसे लीक हुआ.

दिप्रिंट ने पहले खबर दी थी कि धीमन कथित तौर पर कांग्रेस पार्टी से जुड़े हुए हैं और दो बार नांगराण गांव के सरपंच रह चुके हैं और ब्लॉक पंचायत स्तर का पद भी संभाल चुके हैं. हालांकि, कांग्रेस ने इस बात से इनकार किया है.

हत्या की धमकी, सार्वजनिक रूप से बेइज्जती करना, पीड़िता का आरोप

दिप्रिंट से फोन पर बात करते हुए, पीड़िता ने आरोप लगाया कि शोषण के बाद, वह घंटों बाद उठ पाती थी, उसके कपड़े ठीक होते थे. फिर उसे उसी वाइस प्रिंसिपल द्वारा कक्षा में वापस ले जाया जाता था.

दिप्रिंट यह पता नहीं लगा सका कि उस समय स्कूल का वाइस प्रिंसिपल कौन था

यह पूछे जाने पर कि पीड़िता ने कभी शिकायत क्यों नहीं की, उसने कहा कि धीमन पीड़ितों को धमकी देता था. ‘वह हमसे कहता था कि वह हमें और हमारे पूरे परिवार की हत्या कर देगा, हमारी तस्वीरें लीक कर देगा और हमें पूरे समाज में शर्मिंदा करेगा.

महिला ने कहा, ‘मुझे एक बात का यकीन है, कि वह अभी भी एसडी नेशनल पब्लिक स्कूल में छात्राओं के साथ बलात्कार कर रहा होगा. ऐसे लोग कभी नहीं बदलते हैं.

अधिक वीडियो बरामद किए गए हैं?

पुलिस के एक सूत्र ने बताया कि धीमन के फोन की फोरेंसिक जांच में 50 और आपत्तिजनक वीडियो सामने आए हैं. यह वीडियोज़ नांगराण के एसडी नेशनल स्कूल में हाल के छात्राओं और एक टीचर के हैं.

हालांकि, कौर ने कहा कि पुलिस अभी भी मामले की जांच कर रही है और अभी तक कोई नया सबूत नहीं मिला है.

कौर उस एसआईटी का हिस्सा हैं, जिसे पंजाब पुलिस ने मामले की जांच के लिए गठित किया है. एसआईटी में पुलिस उपाधीक्षक (डीएसपी) नांगल, डीएसपी रोपड़, महिला प्रकोष्ठ प्रभारी रोपड़ जिला और आपराधिक खुफिया सेक्शन (रोपड़) की प्रभारी भी शामिल हैं.


यह भी पढ़ेंः पंजाब के प्रिंसिपल का नाबालिग़ों पर ‘यौन हमला’: ‘खुला हुआ रहस्य, बहुत सी शिकायतें’, 12 साल बाद गिरफ्तारी


 

share & View comments