Monday, 23 May, 2022
होमदेशकोलकाता में आग की घटना में अग्निशमक, पुलिस और रेलवे कर्मचारी समेत 9 लोग मारे गए, राहत की घोषणा

कोलकाता में आग की घटना में अग्निशमक, पुलिस और रेलवे कर्मचारी समेत 9 लोग मारे गए, राहत की घोषणा

प्रधानमंत्री कार्यालय की ओर से कोलकाता में आग से जान गंवाने वाले लोगों के परिजनों को PMNRF से 2-2 लाख और गंभीर रूप से घायलों को 50,000 रुपये की अनुग्रह राशि देने की मंजूरी दी है.

Text Size:

नई दिल्ली: कोलकाता के स्ट्रैंड रोड की रेलवे के पूर्वी कार्यालय की मल्टी स्टोटी बिल्डिंग में सोमवार रात आग लग गई. यह आग 13वीं मंजिल पर लगी जिसमें 9 लोगों के मौत की खबर है.

प्रधानमंत्री कार्यालय की ओर से कोलकाता में आग लगने से जान गंवाने वाले लोगों के परिजनों को PMNRF से 2 लाख और गंभीर रूप से घायलों को 50,000 रुपये की अनुग्रह राशि देने की मंजूरी दी है.

कोंद्रीय रेलमंत्री पीयूष गोयल ने बताया कि 4 फायर फाइटर्स, 2 रेलवे कर्मियों और एक पुलिस एएसआई सहित 9 बहादुर मृतकों के परिवारों के लिए गंभीर संवेदना जो कोलकाता में पूर्वी रेलवे स्ट्रैंड रोड कार्यालय में आग से लड़ रहे थे.

पीएम मोदी ने मृतकों के प्रति दुख जताया है. उन्होंने कह है कि कोलकाता हादसे में जान गंवाने वालों के लिए गहरा दुख है. ऐसे वक्त में मेरी संवेदना पीड़ितों के परिवारों के प्रति है. घायल लोगों के जल्दी ठीक होने की कामना करता हूं.

पीएमओ के अनुसार पीएम नरेंद्र मोदी ने कोलकाता में दुखद आग की घटना के कारण अपनी जान गंवाने वालों के परिजनों के लिए प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष से 2-2 लाख रुपये की अनुग्रह राशि की मंजूरी दी है. गंभीर रूप से घायल लोगों को 50,000 रुपये दिए जाएंगे.

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

वहीं केंद्रीय रेलमंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि इस दुर्भाग्यपूर्ण आग के घटना के लिए रेलवे की तरफ से हरसंभव मदद राज्य सरकार को दी जा रही है. इसकी हाई लेवल जांच के लिए रेलवे विभाग के चार प्रमुख अधिकारियों को जिम्मेदारी सौंपी गई है.

वहीं पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा है कि यह संपत्ति रेलवे की है इसके लिए जिम्मेदारी बनती है लेकिन बिल्डिंग का मैप उपलब्ध कराने में वे नाकाम रहे. मैं इस दुखद घटना पर पर राजनीति नहीं करना चाहती.

पूर्वी रेलवे के जनरल मैनेजर मनोज जोशी ने कहा कि रेलवे के अधिकारी मौके पर मौजूद थे, जो भी जरूरत थी वो प्रयास किए गए. हो सकता है कि तत्काल कोई मैप न मौजूद रहा हो, रेलवे के स्टाफ बिल्डिंग को लेकर गाइड करने के लिए वहां मौजूद थे.

जोशी ने कहा कि आग लगने के कारणों को जानने के लिए एक हाई लेवल टीम गठित कर दी गई है हम राज्य के किसी भी जांच में पूरा सहयोग करेंगे.

जीएम ने नुकसान के बारे में बताते हुए कहा कि एक महत्वपूर्ण पैंसेजर रिजर्वेश सिस्टम को नुकसान पहुंचा है और सेवा को स्थगित कर दिया गया है. सीआरआईएस के जरिए डिजास्टर रिकवरी सिस्टम से डाटा को रिकवर करने की कोशिश की जा रही है. उम्मीद है कि सुबह तक हो जाएगा.

 

share & View comments