तारिक फतह की ट्वीट का स्क्रीनशॉट
Text Size:
  • 53
    Shares

नई दिल्ली: कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा दुबई में दिए गए भाषण का एक अंश सोशल मीडिया पर धड़ल्ले से शेयर किया जा रहा है, जिसमें राहुल गांधी यह कहते हुए नज़र आ रहे हैं कि महात्मा गांधी ने अहिंसा की प्रेरणा इस्लाम से ली थी.

इस 10 सेकंड के वायरल वीडियो क्लिप को ऑरिजिनल वीडियो से काट के निकाला गया है, जिसमें कांग्रेस अध्यक्ष कह रहे हैं, ‘महात्मा गांधी ने अहिंसा की अवधारणा भारत के प्राचीन दर्शनशास्त्रों से ली, इस्लाम से ली.’

इस वीडियो को भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता गौरव भाटिया ने रविवार को ट्वीट भी किया.

भाटिया के इस ट्वीट को लगभग 880 यूज़र्स ने रीट्वीट किया और लगभग 3,594 लोगों ने देखा.

इसके बाद ट्विटर पर वेरिफाइड अकाउंट वाले विवादस्पद लेखक तारिक़ फ़तह और सोशल मीडिया इन्फ्लुएंसर सोनम महाजन ने भी इसे ट्वीट किया.

फतह का ट्वीट अंग्रेज़ी में था, जिसका अनुवाद कहता है, ‘भारत के राहुल गांधी यह दावा कर रहे हैं कि गांधी जी ने अहिंसा का विचार सिर्फ प्राचीन भारतीय दर्शनशास्त्र से नहीं, इस्लाम से भी लिया. इन्होंने वोट-बैंक की राजनीति को एक और निम्न स्तर पर ला खड़ा किया है.’

फतह के ट्वीट को 4,390 लोगों ने इसे रीट्वीट किया और लगभग 130,000 लोगों ने इस ट्वीट के माध्यम से वीडियो क्लिप देखा.

सोनम महाजन के ट्वीट का अनुवाद कहता है, ‘महात्मा गांधी ने अहिंसा का विचार इस्लाम से लिया. मैंने अब ज़िन्दगी में सब कुछ देख लिया है, मार ही डालो.’

फेसबुक पर भी हज़ारों लोग इस वीडियो को शेयर करने से नहीं चूके.

झूठी खबरें फ़ैलाने के लिए बदनाम, शंख नाद और नेशन विद नमो नाम के फेसबुक पेजों ने भी वीडियो के क्लिप को शेयर किया. मात्र इन दोनों पेजों से ही लगभग 5000 लोगों ने इस क्लिप को शेयर किया.

राहुल गांधी के भाषण की सच्चाई

दुबई में भारतीय कर्मचारियों को सम्बोधित करते हुए राहुल गांधी की स्पीच का वीडियो कांग्रेस पार्टी के यूट्यूब पेज पर उपलब्ध है. इस वीडियो को देखकर यह साफ़ हो जाता है कि कांग्रेस पार्टी अध्यक्ष ने यह कहा था कि महात्मा गांधी ने अहिंसा की अवधारणा के लिए कई धर्मों से प्रेरणा ली थी.

वीडियो में लगभग 24 मिनट और 11 सेकंड पर राहुल गांधी महात्मा गांधी के अहिंसा के बारे में बात करते हुए नज़र आ रहे हैं.

‘अहिंसा हमारे डीएनए की जड़ में है और यह कोई पिछले 50 सालों से नहीं है. महात्मा गांधी अहिंसा के पुजारी थे लेकिन महात्मा गांधी जी ने भी इस अहिंसा की प्रेरणा हमारे महान धर्मों से ली, हमारे महान गुरुओं से ली. उन्होंने अहिंसा की प्रेरणा प्राचीन भारतीय दर्शनशास्त्रों से ली, इस्लाम से ली, ईसाई धर्म से ली, यहूदी धर्म से ली और उन सभी महान धर्मों से ली, जिनमें साफ़ लिखा हुआ है कि हिंसा से कोई भी कुछ भी प्राप्त न कर पाएगा.’

राहुल गांधी के अनुसार दुनिया भर के ‘महान धर्मों’ से महात्मा गांधी को प्रेरणा मिली, उन्होंने तीन नाम भी लिए पर हिन्दू धर्म का नाम नहीं लिए.

वहीं जहां भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता गौरव भाटिया और बाकी दक्षिणपंथी प्रभावियों ने सिर्फ 10 सेकंड का वीडियो डाला, भाजपा की एक और प्रवक्ता मालविका अविनाश ने वीडियो के बड़े हिस्से को ट्वीट किया.

इस वीडियो में भी उन्होंने राहुल गांधी का खंडन किया, क्योंकि उन्होंने हिन्दू धर्म का नाम नहीं लिया था.

SM Hoaxslayer के सहयोग के साथ


  • 53
    Shares
Share Your Views

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here