scorecardresearch
Monday, 26 February, 2024
होमचुनावअब राहुल पर चुनाव आचार संहिता के 'उल्लंघन' का आरोप, EC ने 'पनौती' और 'जेबकतरा' टिप्पणी पर भेजा है नोटिस

अब राहुल पर चुनाव आचार संहिता के ‘उल्लंघन’ का आरोप, EC ने ‘पनौती’ और ‘जेबकतरा’ टिप्पणी पर भेजा है नोटिस

पार्टी ने अनुरोध किया है कि चुनाव आयोग राजस्थान के मुख्य चुनाव अधिकारी को राहुल गांधी के खिलाफ "आपराधिक मुकदमा चलाने" का निर्देश जारी करे.

Text Size:

नई दिल्ली : भारतीय जनता पार्टी ने शनिवार को चुनाव आयोग से राजस्थान में मतदान के दिन कांग्रेस नेता राहुल गांधी की एक पोस्ट पर संज्ञान लेने की मांग की और सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ‘एक्स’ से “अपमानजनक सामग्री” हटाने का अनुरोध किया है, क्योंकि इससे 48 घंटे के साइलेंस जोन और “स्वतंत्र” व “निष्पक्ष” चुनावों के सिद्धांत को अपूरणीय क्षति पहुंचने से नियमों का उल्लंघन होता है.

अपने बयान में, पार्टी ने अनुरोध किया कि चुनाव आयोग राजस्थान के मुख्य चुनाव अधिकारी को राहुल गांधी के खिलाफ “आपराधिक शिकायत” दर्ज करने व “आपराधिक मुकदमा चलाने” का निर्देश जारी करे.

पार्टी ने कांग्रेस नेता द्वारा अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर पोस्ट किया गया लिंक भी शिकायत के साथ पेस्ट किया है.

बयान के अनुसार, राहुल गांधी द्वारा पोस्ट किए गए संदेश को आज सुबह 10:30 बजे तक बड़ी संख्या में यानी 2,30,900 से अधिक दर्शक देख चुके हैं.

बयान में अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर पोस्ट कर कांग्रेस नेता पर चुनावी कानूनों और आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन करने का आरोप लगाते हुए कहा गया, ”यह कांग्रेस पार्टी के स्टार प्रचारक द्वारा कानून का बहुत बड़ा उल्लंघन है. आयोग को मतदान को लेकर इस तरह के दुस्साहिस कृत्य से सख्ती से निपटना चाहिए और दोषी के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जानी चाहिए.”

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

अपने बयान में, पार्टी ने आयोग से इस बात पर विचार करने के मांग की है कि मतदान के दिन इस तरह का संदेश पोस्ट करना जन प्रतिनिधित्व अधिनियम 1951 की धारा 126 के तहत अपराध है, जो अन्य बातों के साथ-साथ, किसी निर्वाचन क्षेत्र में मतदान के समापन के लिए निर्धारित समय से 48 घंटे पहले की अवधि के दौरान टेलीविजन या इसी तरह के उपकरण पर किसी भी चुनावी मामले को प्रदर्शित करने पर रोक लगाता है.

चुनाव निकाय को भाजपा की शिकायत के मुताबिक, “सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ‘एक्स’ और उसके पदाधिकारियों को, अकाउंट को तुरंत रद्द करने और उपरोक्त आपत्तिजनक सामग्री को तत्काल प्रभाव से हटाने का निर्देश दिया जा सकता है, क्योंकि यह 48 घंटे के साइलेंस जोन का उल्लंघन करता है और निष्पक्षता व स्वतंत्र चुनाव के सिद्धांत को अपूरणीय क्षति पहुंचाता है.”

एक अलग मामले में, चुनाव आयोग ने गुरुवार को कांग्रेस नेता राहुल गांधी को एक चुनावी रैली में प्रधानमंत्री मोदी पर उनकी ‘जैबकतरा’ (जेबकतरा) और ‘पनौती’ टिप्पणियों पर कारण बताओ नोटिस जारी किया है.


यह भी पढ़ें : कर्नाटक का झटका- चुनावों में कोई बड़ा आइडिया नहीं, BJP ने कांग्रेस के ‘रेवड़ी’, जाति के मुद्दे को अपनाया


 

share & View comments