scorecardresearch
Wednesday, 12 June, 2024
होमचुनाव'ये कांग्रेस की नहीं गहलोत की हार है,' CM के OSD बोले- राजस्थान में हार के लिए अशोक गहलोत जिम्मेदार

‘ये कांग्रेस की नहीं गहलोत की हार है,’ CM के OSD बोले- राजस्थान में हार के लिए अशोक गहलोत जिम्मेदार

राजस्थान विधानसभा चुनाव 2023 में प्रदेश की जनता ने एकबार फिर राज बदलकर रिवाज कायम रखा है. 200 विधानसभा वाले राजस्थान में 199 सीटों पर चुनाव हुए जिसमें भारतीय जनता पार्टी 115 सीटों के साथ बड़ी जीत हासिल की है

Text Size:

जयपुर: राजस्थान के निवर्तमान मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के विशेष कार्य अधिकारी (ओएसडी) रहे लोकेश शर्मा ने राज्य में कांग्रेस की हार के लिए गहलोत को जिम्मेदार ठहराया है.

शर्मा इस विधानसभा चुनाव में टिकट मांग रहे थे. हालांकि, पार्टी ने उन्हें मौका नहीं दिया. राज्य में विधानसभा चुनाव परिणाम आने के बाद शर्मा ने रविवार को सोशल मीडिया मंच पर जारी एक पोस्ट में गहलोत पर निशाना साधा.

शर्मा ने लिखा, ‘‘कांग्रेस पार्टी राजस्थान में निःसंदेह रिवाज बदल सकती थी, लेकिन अशोक गहलोत जी कभी कोई बदलाव नहीं चाहते थे. यह कांग्रेस की नहीं बल्कि अशोक गहलोत की शिकस्त है.’’

शर्मा के अनुसार इस विधानसभा चुनाव में,‘‘गहलोत के चेहरे पर, उनको खुली छूट देकर, उनके नेतृत्व में पार्टी ने चुनाव लड़ा और उनके मुताबिक प्रत्येक सीट पर वे स्वयं चुनाव लड़ रहे थे. न उनका अनुभव चला, न जादू और हर बार की तरह कांग्रेस को उनकी योजनाओं के सहारे जीत नहीं मिली और न ही अथाह ‘पिंक प्रचार’ (महिला केंद्रित) काम आया.’’

उन्होंने लिखा है,‘‘तीसरी बार लगातार मुख्यमंत्री रहते हुए गहलोत ने पार्टी को फिर हाशिये पर लाकर खड़ा कर दिया. आज तक पार्टी से सिर्फ़ लिया ही लिया है लेकिन कभी अपने रहते पार्टी की सत्ता में वापसी नहीं करवा पाए गहलोत.’’

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

शर्मा ने कहा, ‘‘आज के ये नतीजे तय थे. मैं स्वयं मुख्यमंत्री को यह पहले बता चुका था, कई बार आगाह कर चुका था लेकिन उन्हें कोई ऐसी सलाह या व्यक्ति अपने साथ नहीं चाहिए था जो सच बताए.’’

शर्मा ने कहा कि उन्होंने बीकानेर और फिर भीलवाड़ा से चुनाव लड़ने की इच्छा जताई थी लेकिन गहलोत कोई नया प्रयोग नहीं कर सके. पोस्ट के मुताबिक बीडी कल्ला के लिए शर्मा ने छह महीने पहले बता दिया था कि वे 20 हजार से ज्यादा मत से चुनाव हारेंगे और वही हुआ.’’

बता दें कि राजस्थान विधानसभा चुनाव 2023 में प्रदेश की जनता ने एकबार फिर राज बदलकर रिवाज कायम रखा है. 200 विधानसभा वाले राजस्थान में 199 सीटों पर चुनाव हुए जिसमें भारतीय जनता पार्टी 115 सीटों के साथ बड़ी जीत हासिल की है. वहीं कांग्रेस के 25 में से 17 मंत्री चुनाव हार गए हैं. जबकि प्रदेश की दो सीटों चोरासी और धारियावाड़ पर भारत आदिवासी पार्टी के प्रत्याशियों ने जीत दर्ज की है. वहीं एक सीट बहुजन समाजवादी पार्टी के खाते में आई है.

राजस्थान में एक चरण में 25 नवंबर को चुनाव हुआ था जिसमें 75.45 फीसदी मतदान डाले गए थे.


यह भी पढ़ें: राजस्थान के दांता रामगढ़ में पति-पत्नी की थी भिड़ंत, वीरेंद्र सिंह ने रीता चौधरी को 98 हजार वोटों से हराया


 

share & View comments