scorecardresearch
Sunday, 25 February, 2024
होमडिफेंस'करीबी नजर रख रहे हैं', भारतीय नौसेना ने कहा- लाल सागर में युद्धपोत INS चैन्नई बढ़ा किडनैपरों से निपटने के लिए

‘करीबी नजर रख रहे हैं’, भारतीय नौसेना ने कहा- लाल सागर में युद्धपोत INS चैन्नई बढ़ा किडनैपरों से निपटने के लिए

सोमालिया के तट के पास अगवा किए गए लाइबेरिया के झंडे वाले जहाज के अपहरण की जानकारी मिलने के बाद सैन्य अधिकारी ने कहा कि इसपर चालक दल के 15 भारतीय सदस्य हैं.

Text Size:

नई दिल्ली: भारतीय नौसेना के एक अधिकारी ने कहा कि यूकेएमटीओ पोर्टल पर गुरुवार शाम को लगभग पांच से छह अज्ञात सशस्त्र कर्मियों द्वारा जहाज पर चढ़ने का संकेत मिलने के बाद भारतीय नौसेना के मिशन तैनात प्लेटफार्मों ने लाइबेरिया के ध्वज वाले बल्क वाहक पर अपहरण के प्रयास का तुरंत जवाब दिया.

स्थिति का जवाब देते हुए, भारतीय नौसेना ने एक समुद्री गश्ती विमान (एमपीए) लॉन्च किया और जहाज की सहायता के लिए समुद्री सुरक्षा संचालन के लिए तैनात आईएनएस चेन्नई को उस ओर डायवर्ट किया है.

विमान ने शुक्रवार सुबह जहाज के ऊपर से उड़ान भरी और चालक दल की सुरक्षा सुनिश्चित करते हुए जहाज से संपर्क स्थापित किया.

भारतीय नौसेना के अनुसार, नौसेना के विमान लगातार जहाज की गतिविधि पर नजर रख रहे हैं और भारतीय युद्धपोत आईएनएस चेन्नई सहायता प्रदान करने के लिए जहाज के इर्द गिर्द नजदीकी से नजर रख रहा है.

भारतीय नौसेना ने कहा कि क्षेत्र में अन्य एजेंसियों और एमएनएफ के साथ समन्वय में समग्र स्थिति की बारीकी से निगरानी की जा रही है.

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

भारतीय नौसेना अपहृत जहाज ‘एमवी लीला नॉरफॉक’ जहाज पर कड़ी निगरानी रख रही है जिसके बारे में कल शाम जानकारी मिली थी.

सोमालिया के तट के पास अगवा किए गए लाइबेरिया के झंडे वाले जहाज के अपहरण की जानकारी मिलने के बाद सैन्य अधिकारी ने कहा कि इसपर चालक दल के 15 भारतीय सदस्य हैं. भारतीय नौसेना के विमान जहाज पर नजर रख रहे हैं और चालक दल के साथ बातचीत की जा रही है.

सैना के अधिकारी ने यह भी कहा कि भारतीय नौसेना का युद्धपोत आईएनएस चेन्नई अपहरण की स्थिति से निपटने के लिए अपहृत जहाज की ओर बढ़ रहा है.

भारत ने बृहस्पतिवार को कहा कि वह लाल सागर के हालात पर करीबी नजर रख रहा है.

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रणधीर जायसवाल ने हूती विद्रोहियों द्वारा क्षेत्र में कई वाणिज्यिक जहाजों पर हमले करने को लेकर बढ़ती वैश्विक चिंताओं के बीच यह बात कही.

इससे पहले भारतीय नौसेना ने बुधवार को कहा था कि उसके जहाज और विमान निगरानी बढ़ाने और समुद्री सुरक्षा अभियान चलाने के लिए ‘मिशन अवस्था में तैनात’ रहेंगे.

जायसवाल ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘हम नौवहन की स्वतंत्रता, वाणिज्यिक पोतों की मुक्त आवाजाही को बहुत अधिक महत्व देते हैं. यह एक उभरती हुई स्थिति है और हम इसके सभी पहलुओं पर गौर कर रहे हैं.’’

नौसेना ने पिछले महीने पोरबंदर तट से करीब 220 समुद्री मील दक्षिण पश्चिम में एमवी केम प्लूटो नामक जहाज को ड्रोन से निशाना बनाए जाने सहित कई वाणिज्यिक पोतों पर हमलों की हालिया घटनाओं को देखते हुए समुद्री निगरानी बढ़ा दी है.


यह भी पढ़ें: TMC नेताओं के यहां छापा मारने जा रही ED टीम पर हमला, BJP बोली- बंगाल में लोकतंत्र बार-बार फेल हो रहा है


 

share & View comments