scorecardresearch
Sunday, 25 February, 2024
होमडिफेंस'हर एक सैनिक हमारे परिवार के सदस्य की तरह है', राजौरी में राजनाथ बोले- J&K से आतंकवाद का सफाया कर देंगे

‘हर एक सैनिक हमारे परिवार के सदस्य की तरह है’, राजौरी में राजनाथ बोले- J&K से आतंकवाद का सफाया कर देंगे

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने सैनिकों की वीरता के लिए बुधवार को उनकी सराहना की और कहा कि उन्हें इस बात का पूरा विश्वास है कि सेना जम्मू कश्मीर से आतंकवाद का पूरी तरह से सफाया कर देगी.

Text Size:

नई दिल्ली: पुंछ में सेना के वाहनों पर हुए आतंकी हमले में चार जवानों के शहीद होने के करीब एक हफ्ते बाद रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह बुधवार को राजौरी पहुंचे और सुरक्षा की समीक्षा की.

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने सैनिकों की वीरता के लिए बुधवार को उनकी सराहना की और कहा कि उन्हें इस बात का पूरा विश्वास है कि सेना जम्मू कश्मीर से आतंकवाद का पूरी तरह से सफाया कर देगी.

उन्होंने कहा कि “हर सैनिक हमारे लिए बहुत महत्वपूर्ण है और हर एक सैनिक परिवार के सदस्य की तरह है और हम यह बर्दाश्त नहीं कर सकते कि कोई हमारे सैनिकों और देशवासियों को कम समझे.”

रक्षा मंत्री ने सीमावर्ती जिले राजौरी में सैनिकों को संबोधित करते हुए कहा, मुझे आपकी वीरता और दृढ़ता पर विश्वास है…जम्मू कश्मीर से आतंकवाद का सफाया होना चाहिए और आपको इस प्रतिबद्धता से आगे बढ़ना चाहिए. मुझे पूरा विश्वास है कि आपको विजय मिलेगी.

मंत्री हाल में पुंछ में हुए आतंकवादी हमले के मद्देनजर सुरक्षा स्थिति की समीक्षा करने के लिए एक दिवसीय दौरे पर यहां पहुंचे. इस हमले में चार सैनिक शहीद हो गए थे.

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

राजनाथ सिंह ने राजौरी में कहा, “मैं हमारे जो सैनिक घायल हुए हैं उनके शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करता हूं. मैं आपको आश्वस्त करना चाहता हूं कि जो भी सैनिक घायल हुए हैं उनकी गंभीरता को देखते हुए सभी आवश्यक कदम उठाने का प्रयास किया जा रहा है और कोई कसर नहीं छोड़ी जा रही है.”

“सुरक्षा और ख़ुफ़िया दोनों एजेंसियां महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं और उनके द्वारा यह प्रयास लगातार किया भी जा रहा है. भविष्य में यह भूमिका और भी महत्वपूर्ण होगी.”

राजौरी मुठभेड़ पर बोलते हुए, राजनाथ सिंह ने कहा, “मेरा मानना ​​है कि ऐसी घटनाओं को हल्के में नहीं लिया जाना चाहिए. हमें और अधिक सतर्क रहने की जरूरत है.”

राजनाथ सिंह ने सुरक्षाकर्मियों का हौसला भी बढ़ाया और कहा कि उनके कर्तव्यों और प्रयासों की तुलना मुआवजे से नहीं की जा सकती.

राजनाथ सिंह ने कहा, “आप सभी में राष्ट्र के लिए बलिदान की भावना है. आप जो शौर्य और वीरता दिखाते हैं, उससे हम सभी को भी गर्व की अनुभूति होती है. मातृभूमि की सेवा में आपका जो भी बलिदान हो, आपके कर्तव्यों और प्रयासों की तुलना नहीं की जा सकती. अगर सेना को कुछ मुआवजा दिया भी जाता है, तो यह सैनिकों के बलिदान की भरपाई नहीं कर सकता है.”

‘सरकार सेना के साथ खड़ी है’

रक्षा मंत्री ने कहा कि “मैं आपको आश्वस्त करना चाहता हूं कि जहां तक सरकार का सवाल है, सरकार आपके साथ खड़ी है और हम आपके कल्याण और आपकी सुविधा को समान प्राथमिकता देते हैं. हमें जो भी जानकारी दी जाती है हम उसके आधार पर कदम उठाने का प्रयास करते हैं.”

उन्होंने आगे कहा कि भारतीय सेना पहले की तुलना में काफी सुसज्जित हो गई है.

भारतीय सेना के बारे में बोलते हुए राजनाथ सिंह ने कहा, ”भारतीय सेना अब पहले से कहीं अधिक शक्तिशाली हो गई है. आप सभी इस देश के रक्षक हैं. रक्षा के साथ-साथ देश, मैं आपसे एक विशेष आग्रह करना चाहता हूं. देश की रक्षा की जिम्मेदारी तो आप पर है ही, लेकिन देश की रक्षा के साथ-साथ देशवासियों का दिल जीतना भी आपके कंधों पर बहुत बड़ी जिम्मेदारी है.”

उन्होंने कहा, हमारा लक्ष्य आतंकवादियों को खत्म करना है. हम किसी भी तरह का युद्ध जीतेंगे और हम आतंकवादियों का सफाया करेंगे.


यह भी पढ़ें: नागरिकों पर अत्याचार और मौत: पुलिस जांच के बावजूद सेना पुंछ अभियोजन पर क्यों कर सकती है कार्रवाई


 

share & View comments