Friday, 27 May, 2022
होमडिफेंसरक्षा विभाग के लगभग 60 हजार रिटायर्ड कर्मी पेंशन न मिलने से भड़के, मंत्रालय ने कहा- आज ही खाते में पहुंच जाएगी

रक्षा विभाग के लगभग 60 हजार रिटायर्ड कर्मी पेंशन न मिलने से भड़के, मंत्रालय ने कहा- आज ही खाते में पहुंच जाएगी

मंत्रालय ने कहा कि इन सेवानिवृत्त कर्मियों को इस वजह से कोई परेशानी नहीं उठानी पड़े इसलिए उन्हें एक बार की विशेष छूट दी गई है और कहा गया है कि वे 25 मई तक अपनी पहचान की पुष्टि करवा लें.

Text Size:

नई दिल्ली: रक्षा विभाग से सेवानिवृत्त लगभग 60 हजार (58,275) कर्मियों को पेंशन के वितरण में इस महीने विलंब हुआ क्योंकि उनके बैंक 30 अप्रैल तक उनकी पहचान की पुष्टि नहीं कर सके. रक्षा मंत्रालय ने बुधवार को यह जानकारी दी. इससे कर्मियों में सरकार के प्रति गुस्सा है.

मंत्रालय ने कहा कि इन सेवानिवृत्त कर्मियों को इस वजह से कोई परेशानी नहीं उठानी पड़े इसलिए उन्हें एक बार की विशेष छूट दी गई है और कहा गया है कि वे 25 मई तक अपनी पहचान की पुष्टि करवा लें.

हालांकि, कई सेवानिवृत्त कर्मियों का तर्क है कि डिजिटल तरीका वास्तव में उनके लिए बोझिल है.

रक्षा मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि यह अप्रैल महीने के लिए पेंशन की प्रक्रिया के दौरान पाया गया कि लगभग 3.3 लाख पेंशनभोगियों की ‘वार्षिक पहचान’ को ‘अपडेट नहीं किया गया’

इसमें कहा गया कि इन 58,275 लोगों की अप्रैल माह की पेंशन बुधवार शाम तक उनके खाते में पहुंच जाएगी.

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

मीडिया में यह मुद्दा उठने के बाद रक्षा मंत्रालय का यह बयान आया है.

मंत्रालय ने कहा कि बैंकों को हर साल नवंबर के महीने तक रक्षा विभाग के सेवानिवृत्त कर्मियों की पहचान की पुष्टि करनी होती है. हालांकि पिछले वर्ष कोविड-19 के कारण सालाना पहचान के लिए 30 नवंबर 2021 से 31 मार्च 2022 तक का समय दिया था.

(दिप्रिंट के राघवबिखचंदानी के इनपुट के साथ)


यह भी पढ़ेंः #जनरेशन नोव्हेयर: स्मार्टफोन की लत के साथ अब एक अदृश्य महामारी से जूझ रहे भारत के युवा


 

share & View comments