scorecardresearch
Monday, 15 July, 2024
होमसमाज-संस्कृतिडगलस स्टुअर्ट को उनके पहले उपन्यास शगी बेन के लिए 50,000 पाउंड का बुकर पुरस्कार मिला

डगलस स्टुअर्ट को उनके पहले उपन्यास शगी बेन के लिए 50,000 पाउंड का बुकर पुरस्कार मिला

बुकर पुरस्कार देने वाले ज्यूरी की प्रमुख मार्गरेट बसबी ने कहा कि ये 'निर्णय एकमत से लिया गया और जजों को तय करने में सिर्फ एक घंटा ही लगा.

Text Size:

नई दिल्ली: इस साल का बुकर पुरुस्कार डगलस स्टुअर्ट को उनके पहले उपन्यास शगी बेन के लिए दिया गया है. इस उपन्यास की कथावस्तु 80 के दशक के स्कॉटिश शहर ग्लास्को में गरीबी और शराब की लत से जूझती एक मां को उसके बेटे द्वारा संभालने की कोशिश पर आधारित है.

बुकर पुरस्कार देने वाले ज्यूरी की प्रमुख मार्गरेट बसबी ने कहा कि ये ‘निर्णय एकमत से लिया गया और जजों को तय करने में सिर्फ एक घंटा ही लगा. उनका कहना था, ‘उपन्यास आपको बांधे रखता है, चुनौतीपूर्ण है और अंतरंग भी. लेखक स्टुअर्ट जो 44 साल के हैं ने पुरुस्कार पाने की खबर को ‘चौंकाने वाला’ बताया.’

उन्होने अपनी मां को ये किताब समर्पित की जिनका शराब की लत से देहांत हो गया था जब वे महज 16 साल के थे. उनका कहना था कि उनके लिए सबसे ज्यादा खुशी की बात ये है कि वे पाठकों के जीवन को छू पाये. उपन्यास में एग्नेस बेन की शादी टूट जाती जिसके बाद वो हताशा में डूब जाती हैं और उनको शराब की लत लग जाती है. सभी बच्चे उसका साथ छोड़ देते है सिवाय बेटे शगी के जो अपनी समस्याओं के होते हुए भी अपनी मां के साथ मज़बूती से खड़ा रहता है. पुरुस्कार जीतने पर अपनी खुशी जाहिर करते हुए स्टुअर्ट ने कहा कि इस सौभाग्य को ट्वीट के जरिए व्यक्त करना नामुमकिन है.

इस किताब को निर्णायक मंडल ने भविष्य की ‘क्लासिक’ बताया. डगलस को 50,000 पाउंड की इनामी राशि मिलेगी. वे स्कॉटिश अमरीकन हैं और कुछ कुछ ये उपन्यास आत्मकथानक है. वे बुकर पुरुस्कारों के इतिहास में दूसरे स्कॉटिश मूल के विजेता हैं. उससे पहले जेम्स केलमन को 1994 में ये पुरुस्कार मिला था.

बुकर की ज्यूरी में ली चाइल्ड, समीर रहीम, लेम्न सीसे, एमिली विल्सन शामिल थे. वे कहते हैं कि ये कहानी ऐसी नहीं है जिसमे सभी का सुखांत होता है, पर जो भी इसे पढ़ेगा वो पहले जैसा महसूस नहीं कर पायेगा. शगी बेन को 30 प्रकाशकों ने रिजेक्ट कर दिया था जिसके बाद, ग्रोव एटलांटिक ने अमरीका में और पीकेडॉर प्रकाशन ने यूके में इसे छापने के अधिकार लिये. स्टुअर्ट डगलस ग्लासगो में पैदा हुए थे और 24 साल की उम्र में अमेरिका फैशन डिजाइनिंग का काम करने चले गये थे. वे कहते हैं कि ‘ग्लासगो के बारे में लिखते हुए मुझे इस शहर से एक बार फिर प्यार हो गया.’

इस साल 162 में से 6 उपन्यासों को शॉर्टलिस्ट किया गया था. जो अन्य लेखक शॉर्टलिस्ट किए गए थे वे थे डाएन कूक, अवनी दोशी, ब्रैंडन टेलर, त्सित्सी डांगारेम्बगा और माज़ा मेंगिस्ते. अवनी दोशी ने बधाई देते हुए लिखा –

कोविड के दौर में बुकर पुरुस्कार की घोषणा वर्चुअली की गई. बुकर यूनाइटेड किंगडम का सबसे नामी साहित्यिक पुरुस्कार है. इसके विजेताओं में हिलरी मैनटल, काज़ुओ इशीगुरो, मार्गरेट एटवुड, सलमान रुश्दी, अरुंधति रॉय जैसे लेखक शामिल हैं.

share & View comments