Friday, 27 May, 2022
होम50 शब्दों में मतअमर जवान ज्योति लौ को शिफ्ट करना एक भद्दा विवाद है, यह पुराने योद्धाओं के लिए बेवजह की पीड़ा है

अमर जवान ज्योति लौ को शिफ्ट करना एक भद्दा विवाद है, यह पुराने योद्धाओं के लिए बेवजह की पीड़ा है

दिप्रिंट का 50 शब्दों में महत्वपूर्ण मामलों पर सबसे तेज नजरिया.

Text Size:

अमर जवान ज्योति की लौ शिफ्ट करने से एक भद्दा विवाद खड़ा हो गया है. सच है, इंडिया गेट मेहराब उन सैनिकों को याद करता है जिन्होंने राष्ट्र की सेवा की है. अमर जवान ज्योति, हालांकि, 1971 के युद्ध के बाद स्थापित की गई थी. नए युद्ध स्मारक का स्वागत है; लेकिन पुरानी मशाल को बुझाना पुराने योद्धाओं के लिए बेवजह की पीड़ा है.

 

share & View comments