Wednesday, 29 June, 2022
होम50 शब्दों में मतPK का कांग्रेस में शामिल नहीं होना बता रहा है- गांधी के नेतृत्व में अपना घर ठीक करने की इच्छाशक्ति नहीं है

PK का कांग्रेस में शामिल नहीं होना बता रहा है- गांधी के नेतृत्व में अपना घर ठीक करने की इच्छाशक्ति नहीं है

दिप्रिंट का 50 शब्दों में सबसे तेज़ नज़रिया.

Text Size:

कांग्रेस में शामिल नहीं होने के फैसले पर प्रशांत किशोर की सफाई बयान कर रही है. कांग्रेस नेतृत्व में परिवर्तनकारी सुधारों के जरिए अपनी समस्याओं को ठीक करने की इच्छाशक्ति नहीं है. परिवर्तन पर गांधी का अडिग रहना हैरान करने वाला है. कोई भी ‘चिंतन शिविर’ विपक्षी दल को तब तक पुनर्जीवित नहीं कर सकता जब तक कि वह मूल समस्या को स्वीकार न कर ले और वह गांधी नेतृत्व है.

यूक्रेन पर भारत ने यूरोप को आईना दिखा कर ठीक किया

विदेश मंत्री जयशंकर का यूरोप को यूक्रेन के अलावा दूसरे मुद्दों पर ध्यान देने और यह याद दिलाना कि कैसे अफगानिस्तान को खाई में धकेल दिया गया, भू-राजनीतिक वास्तविकताओं की एक गंभीर चेतावनी है. यूरोप के पास विचार के लिए बहुत कुछ है: इसकी रूसी ऊर्जा खरीद से लेकर चीन के साथ आर्थिक संबंध तक. भारत ने यूरोप को आईना दिखा कर ठीक किया है.

मस्क का ट्विटर की फ्री स्पीच में विश्वास ठीक है लेकिन फेक न्यूज, बेनाम अकाउंट भी खत्म होने चाहिए

ट्विटर का मालिक कौन है इससे कोई फर्क नहीं पड़ता. मायने रखता है कि एलन मस्क का फ्री स्पीच में विश्वास यूजर्स को कैसे प्रभावित करेगा और बहस को आकार देगा. इसका मतलब ज्यादा गाली, नफरत, फेक न्यूज या बेनाम अकाउंट के लिए लाइसेंस नहीं हो सकता है. ट्विटर का भविष्य इस बात पर निर्भर करता है कि मस्क इसे कैसे संभालते हैं. उन्हें ट्विटर की खातिर कामयाब होना चाहिए.

share & View comments