scorecardresearch
Tuesday, 20 February, 2024
होम50 शब्दों में मतसिद्धू, इंद्राणी या 'आतंक' के मामले - अंतहीन देरी घोर अन्यायपूर्ण न्यायिक प्रक्रिया का संकेत है

सिद्धू, इंद्राणी या ‘आतंक’ के मामले – अंतहीन देरी घोर अन्यायपूर्ण न्यायिक प्रक्रिया का संकेत है

दिप्रिंट का 50 शब्दों में महत्वपूर्ण मामलों पर सबसे तेज नजरिया.

Text Size:

सुप्रीम कोर्ट ने नवजोत सिंह सिद्धू को 34 साल बाद जेल भेजा. अदालत ने बेटी की 2012 की हत्या में इंद्राणी मुखर्जी को जमानत देते हुए कहा कि मुकदमे में समय लगेगा. आपराधिक मामलों में अंतहीन देरी क्यों होती है? ‘आतंक’ के मामलों में दो दशक जेल में रहने के बाद लोगों को बरी कर दिया जाता है. हमारी न्यायिक प्रक्रिया घोर अन्यायपूर्ण है.

share & View comments