scorecardresearch
Thursday, 20 June, 2024
होम50 शब्दों में मतसंसद भवन के उद्घाटन पर विवाद दुर्भाग्यपूर्ण है, शक्तियों का बंटवारा संविधान का आधार है

संसद भवन के उद्घाटन पर विवाद दुर्भाग्यपूर्ण है, शक्तियों का बंटवारा संविधान का आधार है

दिप्रिंट का 50 शब्दों में सबसे तेज़ नज़रिया.

Text Size:

भले ही राजनीतिक गलियारे में संबंध और विश्वास टूटे हुए हैं पर संसद भवन के उद्घाटन को लेकर विवाद दुर्भाग्यपूर्ण है. विपक्ष तक पहुंचने की जिम्मेदारी मोदी सरकार की है. शक्तियों का पृथक्करण हमारे संविधान का आधार है. यह समय इसे मजबूत करने का था, न कि कमजोर करने का.

 

share & View comments