Saturday, 21 May, 2022
होम2019 लोकसभा चुनावमोदी कैबिनेट-2 में यूपी के इन सांसदों को मिली जगह, कई चेहरे जीतकर भी चूक गए

मोदी कैबिनेट-2 में यूपी के इन सांसदों को मिली जगह, कई चेहरे जीतकर भी चूक गए

प्नधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ कैबिनेट मंत्रियों ने भी शपथ ली. इस दौरान यूपी से बने सांसदों ने भी शपथ ली. हालांकि कई बड़े चेहरों को कैबिनेट में जगह नहीं मिली.

Text Size:

लखनऊ: लोकसभा चुनाव में बीजेपी की जीत में यूपी का अहम रोल रहा है. पीएम सहित उत्तर प्रदेश से मोदी कैबिनेट-2 में 8 सांसदों ने शपथ ली. इस चुनाव बीजेपी ने 62 व सहयोगी दल अपना दल ने दो सीटें हासिल की हैं. गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ कैबिनेट मंत्रियों ने भी शपथ ली. इस दौरान यूपी से बने सांसदों ने भी शपथ ली. हालांकि कई बड़े चेहरों को कैबिनेट में जगह नहीं मिली.

राजनाथ फिर होंगे नंबर दो

मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल में लखनऊ के सांसद राजनाथ सिंह ने शपथ ली.लखनऊ से दूसरी बार सांसद बने राजनाथ सिंह पार्टी के वरिष्ठतम चेहरों में से एक हैं. पीएम मोदी के बाद जिस तरह से उन्होंने शपथ ली इससे तय है कि सरकार में नंबर दो पर उनकी ही जगह होगी. सूत्रों की मानें तो उन्हें फिर गृह मंत्रालय दिया जा सकता है.

अमेठी जीतने का मिला तोहफा , बढ़ेगा कद

अमेठी से कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी को हराकर स्मृति ईरानी हर ओर चर्चा में हैं. गुरुवार को उन्होंने भी कैबिनेट मंत्री के तौर पर शपथ ली. पिछली सरकार में वह मानव संसाधन विकास मंत्री बनीं थीं. इसके अलावा वह कपड़ा मंत्री भी रहीं लेकिन इस बार उनका कद बढ़ने की उम्मीद है.

मुख्तार अब्बास नकवी – बीजेपी का अल्पसंख्यक चेहरा

मुख्तार अब्बास नकवी भी उत्तर प्रदेश से हैं. वह राज्यसभा सांसद हैं. वह मोदी सरकार में अल्पसंख्यक चेहरा हैं. एक प्रवक्ता के तौर पर वह काफी मशहूर रहे हैं. पिछली सरकार में वह अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री भी रहे. सूत्रों की मानें तो यही विभाग उन्हें इस बार भी मिल सकता है.

महेंद्र नाथ पांडे को मिला यूपी के प्रदर्शन का तोहफा

बीजेपी के उत्तर प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र नाथ पांडे को भी मोदी कैबिनेट में जगह मिल गई है. वह लगातार दूसरी बार चंदौली से सांसद बने. यूपी में बीजेपी की कामयाबी का तोहफा उन्हें मिला. हालांकि उन्हें मंत्रालय कौनसा मिलेगा इसका अंदाजा लगाना आसान नहीं है.

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

संतोष गंगवार को थी कैबिनेट की उम्मीद

बरेली से सांसद संतोष गंगवार को राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) के तौर पर शपथ दिलाई गई है. वह इस बार बरेली से 8वीं बार सांसद बने हैं. पिछली सरकार में वह राज्य मंत्री थे. इस बार उन्हें कैबिनेट मंत्री बनाए जाने की उम्मीद थी. उन्हें प्रोटेम स्पीकर भी बनाया गया है.

वीके सिंह बने राज्यमंत्री

रिटायर्ड सेनाध्यक्ष वीके सिंह इस बार भी गाजियाबाद से जीतकर अपनी धमक बनाए हुए हैं. पहले कार्यकाल में भी मंत्री रहे हैं. इस बार भी उन्हें राज्य मंत्री बनाया गया है.

साध्वी निरंजन ज्योति  और डॉ संजीव बालियान बनें राज्यमंत्री

फतेहपुर से फिर चुनी गईं सांसद निरंजन ज्योति निषाद समाज से आती हैं. मोदी सरकार में इस बार भी उन्हें राज्यमंत्री बनाया गया है. निषाद वोटरों का साथ भाजपा को मिल रहा है. इसका तोहफा निरंजन ज्योति को भी मिला. वहीं मुजफ्फरनगर से सासंद डॉ संजीव बालियान  को भी राज्यमंत्री बनाया गया है.

इन्हें थी उम्मीद लेकिन नहीं मिली कैबिनेट में जगह

– मेनका गांधी
– अनुप्रिया पटेल
-मनोज सिन्हा
-रीता जोशी

share & View comments