news of election 2019
सत्ता का महासंग्राम-ग्राफिक्स-सोहम सेन
Text Size:
  • 1
    Share

नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव 2019 सत्ता का महासंग्राम है. अब इस संग्राम के शुरू होने में एक हफ्ते से भी कम समय बचा है. इस बीच राजनीतिक पार्टियां ताबड़तोड़ रैलियां और जनसभा का आयोजन कर रही हैं. रविवार का दिन इस महासंग्राम में काफी खास होने जा रहा है. कई राजनीति दलों की आज रैलियां होंगी. मोदी जहां पश्चिम बंगाल के कूच बिहार, त्रिपुरा के उदयपुर और मणिपुर के इंफाल में तीन जनसभाएं करेंगे. वहीं उत्तर प्रदेश सपा-बसपा-आरएलडी अपनी पहली रैली की शुरुआत सहारनपुर के देवबंद से करेगा. इसमें पार्टी के तीनों मुखिया अखिलेश, मायावती व अजित सिंह मौजूद रहेंगे. जबकि दिल्ली में आम आदमी पार्टी की शाम को चार जनसभाएं होंगी. चांदनी चौक और जंगपुरा विधानसभा में केजरीवाल और बवाना व नांगलोई विधानसभा में आप के राज्यसभा सांसद संजय सिहं जनसभा करेंगे.


7 अप्रैल सत्ता के महासंग्राम से जुड़ी हर खबर


पुलावामाः चुनाव जीतने के लिए किया गया कारनामा

जम्मू एवं कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री व नेशनल कान्फ्रेंस (एनसी) के अध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला ने रविवार को कहा कि केंद्र सरकार को पता था कि पुलवामा में आतंकवादी हमला होने को है, फिर भी होने दिया, ताकि मोदी चुनाव जीत सकें.

जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर आम नागरिकों की यातायात प्रतिबंधित किए जाने के खिलाफ पार्टी के धरने की अगुवाई करते हुए अब्दुल्ला ने कहा, ‘यह केंद्र सरकार की चूक है. उन्हें पता था कि हमला होने जा रहा है. विस्फोट आए कहां से? मोदी को चुनाव जीतना है, इसलिए उन्होंने यह कारनामा किया.’ फारूक अब्दुल्ला ने अधिकारियों को चेताया, ‘हमें यह दिमाग में रखने को मजबूर किया जा रहा है कि इसमें हमारी कोई चूक नहीं थी. हम आजाद देश में रह रहे हैं या यह एक उपनिवेश है? उन्होंने हमें कैद कर रखा है. इससे पहले कि कश्मीर में और खून-खराबा हो, वे यह प्रतिबंध हटाएं.’

राज्य में राज्यपाल शासन लागू है. पुलवामा में 14 फरवरी को आतंकवादी हमले में सीआरपीएफ के 40 जवानों के शहीद हो जाने के बाद सरकार ने जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर रविवार और बुधवार को आम नागरिकों की आवाजाही प्रतिबंधित कर दी है, ताकि सुरक्षा बलों के काफिले सुरक्षित तरीके से गुजर सकें.

भाजपा पर मावायती का तीखा, बोलीं- अपनी नीतियों से वह सत्ता से बाहर होगी

सपा-बसपा और आरएलडी की संयुक्त रैली सहारनपुर के देवबंद में शुरू हो गई है. मायावती ने सबसे पहले जनसभा को संबोधित करते हुए मोदी पर तीखा हमला बोला. उन्होंने अपने मतदाताओं को सचेत करते हुए कहा कि भाजपा की किसी भी जुमलेबाजी में मत फंसना. उनकी चौकीदारी का नाटक इस बार काम नहीं आएगा. इस संयुक्त रैली में सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव, आरएलडी प्रमुख अजित सिंह सहित कई नेता मौजूद हैं. भीम आर्मी के समर्थक भी अपने पोस्टर-बैनर के साथ पहुंचे रैली हैं.

उन्होंने किसानों का मुद्दा जोरदार तरीके से उठाया और भाजपा सरकार पर उन्हें बदहाल करने का आरोप लगाया. बसपा प्रमुख ने कहा कि बीजेपी अपनी गलत नीतियों से सत्ता गंवा देगी. दलित, आदिवासियों व पिछड़ों का मुद्दा उठाते हुए कहा कि उनकी सरकारी नौकरियों में हिस्सेदारी बहुत ही कम है.

पीएम ने ममता को विकास विरोधी और घुसपैठियों की मदद करने वाला बताया

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पश्चिम बंगाल के कूच बिहार में एक जनसभा कर वहां की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर जमकर हमला बोला और बंगाल के लिए उन्होंने घातक बताया. पीएम ने कहा केंद्र की चलाई कई योजनाओं को प्रदेश में दीदी ने रोकने का काम किया है. उन्होंने कहा कि दीदी कम्युनिस्टों के रास्ते पर हैं और बंगाल का नुकसान कर रही है.

पीएम ने कहा बंगाल की जनता ने मन बना लिया है. अब बंगाल में न टोलागीरी चलेगी न गुंडागीरी. आपको किसी से डरने की जरूरत नहीं है. कोई आपका वोट छीन नहीं पाएगा. दीदी अपने महामिलावटी साथियों के साथ मिलकर इस पर भी ब्रेक लगाने के चक्कर में है. लेकिन ये चौकीदार इस विषय में भी पूरी तरह से चौकन्ना है.

उन्होंने सिटिजनशिप संशोघन बिल और एनआरसी का मुद्दा उठाते हुए कहा कि आपका ये चौकीदार नागरिकता संशोधन बिल भी लेकर आया है. हमारी कोशिश मां भारती की संतानों को, मां भारती में आस्था रखने वालों को सुरक्षा देने की थी. आपका ये चौकीदार घुसपैठियों की पहचान करने के लिए असम में एनआरसी लेकर आया.

पीएम ने ममता बनर्जी को कम्युनिस्टों की राह चलने वाली बताया. उन्होंने कहा कि कम्यूनिस्टों के शासन के बाद इस तरह सरकार चलाई जाएगी, इसकी उम्मीद किसी को नहीं थी. मां शारदा को पूरा देश पूजता है, उनसे हम ज्ञान, सद्-बुद्धि मांगते हैं, लेकिन इन्होंने बंगाल को सारदा स्कैम से बदनाम कर दिया.

बंगाल के लिए अपनी सरकार की शुरू की गई सुविधाओं का जिक्र करते हुए पीएम ने कहा कि क्या दीदी ने आपको बताया कि यहां के चाय बगानों में शिक्षा और स्वास्थ्य से जुड़ी सुविधाओं को रोकने का काम क्यों किया जा रहा है. क्या दीदी ने आपको बताया कि क्यों पश्चिम बंगाल में 7वें वेतन आयोग की सिफारिशें लागू नहीं की जा रही हैं? क्या दीदी ने आपको बताया कि क्यों परीक्षा पास करने के बावजूद, हज़ारों युवाओं की नौकरी पर ब्रेक लगा दिया गया है.

मोदी ने कहा कि दीदी का असली चेहरा दुनिया के सामने लाना जरूरी है. ये धरती इतने सामर्थ्य से भरी हुई है लेकिन वो पश्चिम बंगाल की संस्कृति को, यहां के गौरव को, यहां के नागरिकों के जीवन को तबाह करने पर तुली हुई है.
घुसपैठियों को बचाने का आरोप लगाते हुए ममता पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा कि अपने राजनीतिक फायदे के लिए घुसपैठियों को बचाकर दीदी ने माटी के साथ भी विश्वासघात किया है. पश्चिम बंगाल के लोगों को टीएमसी के गुंडों के हवाले करके उन्होंने मानुष की सारी उम्मीदें तोड़ दी हैं, उसका जीवन मुश्किल में डाल दिया है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पश्चिम बंगाल के कूच बिहार में एक जनसभा कर वहां की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर जमकर हमला बोला. उन पर घुसपैठियों की मदद करने और केंद्र की योजनाएं रोकने का आरोप जड़ा.


  • 1
    Share
Share Your Views

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here