news of election 2019
सत्ता का महासंग्राम-ग्राफिक्स-सोहम सेन
Text Size:
  • 8
    Shares

नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव 2019 के महाकुंभ की पहले राजनीतिक पार्टियों के बीच गहमागहमी और तेज हो गई है. जैसे-जैसे मतदान का दिन नजदीक आ रहा है चुनावी घमासान दिलचस्प और रोमांचक होता जा रहा है. राजनेता धुआंधार रैलियां कर मतदाताओं को लुभाने में लगे हैं. कांग्रेस और भाजपा के दिग्गज नेता मतदाताओं से संवाद स्थापित करने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ना चाहते हैं. इसी कड़ी में कांग्रेस पार्टी यूपी पूर्व की महासचिव गाजियाबाद में रोड शो करने जा रही हैं.


5 अप्रैल की हर हलचल पर नजर:


राहुल गांधी ने मोदी को किसान विरोधी, उद्योगपतियों का दोस्त बताया

राहुल गांधी ने शुक्रवार को महाराष्ट्र में के वर्धा और चंद्रपुर में 2 रैलियां की और पुणे में छात्रों के साथ संवाद किया. इस दौरान उन्होंने किसानों का मुद्दा उठाते हुए मोदी सरकार को किसान विरोधी व उद्योगपतियों का मित्र बताया. छात्रों से उनका संवाद सोशल मीडिया पर लाइव दिखाया गया.

राहुल गांधी ने महाराष्ट्र के चंद्रपुर में एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि मोदी सरकार यह कहते हुए किसानों को गुमराह कर रही है कि उनका कर्ज माफ करने के लिए उसके पास पैसे नहीं है जबकि वह अनिल अंबानी को राफेल डील में 30,000 करोड़ का फायदा पहुंचा चुकी है. जब पुलवामा में हमला हुआ तो, पूरा देश उससे चिंतित और दुःखी नजर आ रहा था. इधर, मोदी ने चुपके से अडानी को 6 एयरपोर्ट दे दिए.

गांधी ने कहा कि देश की परिवारों की महिलाओं को न्याय योजना के तहत हर साल 72000 रुपये दिए जाएंगे. हम ऐसा कर रहे हैं क्योंकि मोदी सरकार ने मुट्ठीभर उद्योगपति मित्रों को 3,50000 करोड़ रुपये दे दिये, जबकि वहीं विदर्भ के किसानों को नजरंदाज कर दिया. मोदी जी ने ₹15 लाख का वादा किया, वो झूठ निकला. वहीं से मुझे विचार आया और विचार-विमर्श के बाद हमने तय किया कि हम देश के 20% सबसे गरीब परिवारों को ₹72,000 सालाना दे सकते हैं. हम ये करके दिखाएंगे. यही ‘न्याय’ की अवधारणा है.

वहीं इससे पहले छात्रों को संबोधित करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि उन्हें अनुभव से साहस मिला है, जो कुछ भी हुआ, उसे मैंने स्वीकार किया. अगर आप सच को स्वीकारते हैं, तो आपमें साहस आता है. हमारे विजन डॉक्यूमेंट में कांग्रेस पार्टी की अभिव्यक्ति नहीं, इसमें देश के सभी स्टेकहोल्डर की अभिव्यक्ति है. राहुल ने कहा कि उनका वादा है कि न्याय योजना के लिए धन मध्यवर्ग और टैक्स बढ़ाकर नहीं आएगा, इसेक लिए पैसा उनसे आएगा जिन्होंने बैंकिंग व्यवस्था पर कब्जा कर रखा है.

महिलाओं को संसद और राज्य विधानसभाओं में 33 हिस्सेदारी बढ़ाने के लिए कहा कि वह जब सत्ता में आएंगे तो तो संसद और राज्य विधानसभाओं का 33% हिस्सा महिलाओं के लिए आरक्षित होगा. राष्ट्रीय स्तर पर सभी नौकरियों का 33% हिस्सा महिलाओं के लिए आरक्षित होगा.

राहुल ने कहा नोटबंदी देश के लिए आपदा थी. इससे करोड़ों नौकरियां चली गईं और अर्थव्यस्था ठप हो गई. हम बैंकिंग को नया एंटरप्रेन्योर्स एक्सेस देंगे और तीन साल तक उन्हें किसी तरह की अनुमति नहीं लेनी पड़ेगी. 22 लाख सरकारी पद खाली हैं. हमें शिक्षा और स्वास्थ्य सेवा के लिए बुनियादी ढांचे का निर्माण करने की आवश्यकता है और यह रिक्त पदों को भरने से पूरा होगा. उन्होंने ब्लॉक और जिला स्तर पर उच्च गुणवत्ता वाले स्वास्थ्य और शिक्षा से जुड़े संस्थान देने की बात कही. हमें देश के कौशल की पहचान और इसे आर्थिक व राजनीतिक मदद देने की जरूरत है.

कुशवाहा समाज और अल्पसंख्यकों की अनदेखी का आरोप लगा भाजपा से इस्तीफा

बिहार की पूर्व मंत्री रेणु कुमारी कुशवाहा और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेता विजय कुमार कुशवाहा ने शुक्रवार को भाजपा से इस्तीफा दे दिया. उन्होंने भाजपा पर कुशवाहा समाज और अल्पसंख्यकों की अनदेखी करने का आरोप लगाया. रेणु कुशवाहा ने यहां एक संवाददाता सम्मेलन में भाजपा छोड़ने की घोषणा करते हुए कहा कि भाजपा में वह अपमानित महसूस कर रही थीं.

उन्होंने कहा, ‘जल्द ही सभी दलों के स्वाभिमानी राजनीतिक कार्यकर्ताओं और हाशिए पर बैठे सामाजिक कार्यकर्ताओं के साथ मिलकर आगे की राजनीति की दिशा तय की जाएगी.’

टिकट बंटवारे से नाराज रेणु ने कहा कि भाजपा ने कुशवाहा समाज की उपेक्षा की है. उन्होंने भाजपा में आतंरिक लोकतंत्र समाप्त होने का आरोप लगाते हुए कहा कि समाज के लोग जब लोकसभा में नहीं जाएंगे तो समाज की बात कौन उठाएगा?
उन्होंने कहा कि पिछले पांच वर्षो में भाजपा नीत राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) सरकार का चेहरा बेनकाब हो गया है. उन्होंने कहा कि इस चुनाव में राजग को हकीकत का पता लग जाएगा.

पीएम ने किसानों को साधा, विपक्षियों पर दागे सवाल

पीएम मोदी अपने चुनावी प्रचार अभियान के तहत पश्चिमी यूपी के सहारनपुर में एक जनसभा को संबोधित कर रहे हैं. उन्होंने यहां गन्ना किसानों को साधते हुए कहा कि गन्ने से इथेनॉल बनाने के लिए देशभर में प्लांट लग रहा है. अब उन्हें इसका पूरा दाम मिलेगा. इस दौरान उन्होंने सपा-बसपा पर हमला बोला. कांग्रेस के घोषणा पत्र का विरोध करने के साथ उसे पिछड़ा विरोधी बताया और मुस्लिम महिलाओं के लिए तीन तलाक का मुद्दा उठाया.

पीएम ने सपा-बसपा पर हमला बोलते हुए कहा कि इनका काम मिलें- कारखाने बंद करने का था, हमारा खुलवाने का है. इन्होंने गन्ना मिलों के साथ भी यही किया और सहारनपुर के लकड़ी उद्योग को भी नहीं बख्शा. कांग्रेस पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा कि कांग्रेस की सोच साफ-सफाई के काम से जुड़े करोड़ों चौकीदारों का अपमान है.

मुस्लिम महिलाओं के सम्मान का मुद्दा उठाते हुए उन्होंने कहा कि मुस्लिम बहनों को मेहरम के बिना हज यात्रा का विश्वास मिला ये भी बेटी का सम्मान है. तीन तलाक के कुचक्र से बेटियों को मुक्ति देने का संकल्प भी बेटियों को जीवन सुरक्षित करने का प्रयास है. ‘मैं अपनी मुस्लिम बेटियों को स्पष्ट कहना चाहता हूं कि कांग्रेस, सपा और बसपा के राज में मुस्लिम महिलाओं का शोषण जारी रहेगा.’ यहां तो बोटी-बोटी करने वाले साहब भी हैं और कांग्रेस के शहजादे के बड़े चहेते हैं. याद रखिएगा, वो बोटी-बोटी की धमकी देने वाले लोग हैं और हम बेटी-बेटी को सम्मान देने वाले हैं.

महागठबंधन पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा कि महामिलावटी लोगों के आचरण से पता लगता है कि सत्ता में आने के बाद वो कैसे काम करेंगे. पिछड़ों के हितों की रक्षा कभी नहीं की जाएगी. याद रखिए कांग्रेस हमेशा पिछड़ों की विरोधी रही है.

हाल में चौधरी अजीत सिंह के बयान पर पलटवार करते हुए पीएम ने कहा कि चौधरी चरण सिंह जी को आज इन बयानों से कितना दुःख हो रहा होगा, आप समझ सकते हैं. उनकी ज़ुबान दंगों के संरक्षकों के विरुद्ध नहीं उठती, हां इस चौकीदार को गाली देने के लिए वो गली-गली घूम रहे हैं. छोटे चौधरी तो उनसे भी आगे बढ़ गए हैं. चौधरी अजीत सिंह ने तो इस स्वार्थ में सारी हदें ही पार कर दी हैं.

पश्चिमी यूपी के दंगों का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि सहारनपुर के बाजारों में वो आगजनी और व्यापारियों के साथ वो बदसलूकी यूपी भुला सकता है क्या? कैराना में पलायन की वो घटनायें आप भूल सकते हैं क्या?

विपक्षियों के आतंकवाद पर नरम होने से कुछ के हौंसले बुलंद

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि आतंकियों को उन्हीं की भाषा में जबाव देना हमारे देश के कुछ लोगों को परेशान करता है. जब भारत डंके की चोट पर दुश्मन को मारता है, तब कुछ लोगों को हिंदुस्तान में रोना आता है. मोदी शुक्रवार को अमरोहा में भाजपा प्रत्याशी के लिए रैली करने पहुंचे थे.

उन्होंने कहा कि कांग्रेस, समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी के आतंकवाद पर इसी नर्म रवैये की वजह से ही कुछ लोगों के हौंसले बुलंद हुए हैं. मोदी ने कहा, ‘जब पाकिस्तान दुनिया के सामने उजागर हो रहा होता है तो ये लोग पाकिस्तान के समर्थन में बोलने लगते हैं.’ प्रधानमंत्री ने कहा, ‘मोदी आतंक को वोटबैंक से नहीं तौलता, तभी आतंक के मददगार आज जेल में बंद हैं. देश को आगे बढ़ाना है तो हम सब को मिलकर साथ चलना होगा.’

मोदी ने कहा, ‘आतंकियों को उन्हीं की भाषा में जवाब देना कुछ लोगों को पसंद नहीं आ रहा. बीते 5 वर्षों से धमाके रुक गए, क्योंकि दिल्ली में आपने साफ नीयत वाला चौकीदार बिठा दिया है. अब आतंकियों को पता है कि वो एक गलती करेंगे तो मोदी उन्हें पाताल से भी खोजकर सजा देगा.’

प्रियंका का गाजियाबाद में रोड शो, पीएम की अमरोहा में रैली

चूंकि यूपी में पहले और दूसरे चरण में कई महत्वपूर्ण सीटों पर मतदान होने हैं इसे देखते हुए दोनों ही दिग्गज पार्टियों के स्टार नेता और प्रचारक यूपी में अपना ध्यना केंद्रित किए हुए हैं. इसी कड़ी में कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव व स्टार प्रचारक प्रियंका गांधी वाड्रा पार्टी गाजियाबाद की प्रत्याशी डॉली शर्मा के समर्थन में रोड शो करेंगी. प्रियंका जीटी रोड स्थित रमते राम रोड मोड़ से रोड शो शुरू करेंगी. वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज अमरोहा और सहारनपुर में जनता से संपर्क स्थापित करेंगे. बता दें कि पश्चिमी यूपी में पहले और दूसरे चरण की 16 सीटों के चुनाव को देखते हुए पीएम मोदी का यह दूसरा दौरा है. भाजपा अध्यक्ष अमित शाह, अरुणाचल प्रदेश, मणिपुर और असाम में रैलियों को संबोधित करेंगे.

राहुल कर रहे हैं युवाऔं और छात्रों को टार्गेट

राहुल गांधी शुक्रवार को महाराष्ट्र में युवाओं और छात्रों से मिलेंगे. राहुल पुणे के लक्ष्मी लॉन मागरपट्टा में जहां छात्रों से मुलाकात करेंगे वहीं, दोपहर दो बजे चंद्रपुर जिले में जनसभा को वर्धा में जनसभा को संबोधित करेंगे.


  • 8
    Shares
Share Your Views

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here