Wednesday, 25 May, 2022
होमविदेशसंरा सुरक्षा परिषद ने वर्चुअल रिएलिटी के जरिये कोलंबिया का क्षेत्रीय दौरा किया

संरा सुरक्षा परिषद ने वर्चुअल रिएलिटी के जरिये कोलंबिया का क्षेत्रीय दौरा किया

Text Size:

(योषिता सिंह)

संयुक्त राष्ट्र, 21 जनवरी (भाषा) अपनी तरह की पहली “डिजिटल कूटनीति” में, संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (यूएनएससी) ने कोलंबिया की एक क्षेत्रीय यात्रा के लिए ‘वर्चुअल रिएलिटी’ का उपयोग किया जिसका उद्देश्य संयुक्त राष्ट्र के 15 देशों की शीर्ष शाखा को दक्षिण अमेरिकी देश में शांति प्रक्रिया को लेकर एक अंतर्दृष्टि प्रदान करना था।

जनवरी महीने के लिये परिषद के अध्यक्ष नॉर्वे ने बृहस्पतिवार को एक बयान में कहा, “आज पहली बार यूएनएससी ने डिजिटल तरीके से क्षेत्रीय दौरा किया।”

महासचिव के विशेष प्रतिनिधि और कोलंबिया में संयुक्त राष्ट्र सत्यापन मिशन के प्रमुख कार्लोस रुइज़ मासियू और कोलंबिया के क्रांतिकारी सशस्त्र बलों (एफएआरसी-ईपी) के पूर्व लड़ाके द्वारा अंतिम समझौता और अब पुन: एकीकरण पहल के नेता लूज मरीना गिराल्डो की एक ब्रीफिंग से पहले सदस्यों ने कोलंबिया का डिजिटल दौरा किया।

बयान में कहा गया, “शांति प्रक्रिया में अंतर्दृष्टि प्राप्त करना और कोलंबिया में लोगों को यह कैसा दिखता है, सुन रहे हैं। देख रहे हैं।”

‘वर्चुअल रिएलिटी’ यात्रा के लिए मौजूद, संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी मिशन में काउंसलर प्रतीक माथुर ने ट्वीट किया कि भारत “शांति के लिए प्रौद्योगिकी का उपयोग करने का गर्व के साथ समर्थन करता है।” उन्होंने ट्वीट किया, “यूएनएससी में आज थ्री-डी डिजिटल कूटनीति अमल में है। सुरक्षा परिषद का पहला सत्र जिसमें वर्चुअल रिएलिटी अनुभव का इस्तेमाल किया जा रहा है। (विश्व) संघर्षों को बेहतर ढंग से समझने, शांति बनाए रखने और शांति-निर्माण के लिए अभिनव समाधान।”

वर्चुअल रिएलिटी (वीआर) का मतलब कंप्यूटर के सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर की मदद से ऐसे माहौल की रचना करना होता है जिसमें इसका इस्तेमाल कर रहे व्यक्ति को ऐसा लगे कि वह वास्तव में उस जगह या माहौल में है।

संयुक्त राष्ट्र के राजनीतिक और शांति निर्माण मामलों के विभाग (डीपीपीए) ने एक ट्वीट में कहा, “कोलंबियाई शांति प्रक्रिया को आज न्यूयॉर्क में निर्णय लेने वालों के करीब ला रहे हैं और कोलंबियाई आवाज़ों को सुना रहे हैं।”

कोलंबियाई शांति प्रक्रिया कोलंबियाई संघर्ष को समाप्त करने के लिए 2016 में राष्ट्रपति जुआन मैनुअल सैंटोस और कोलंबिया के क्रांतिकारी सशस्त्र बलों (एफएआरसी-ईपी) की कोलंबियाई सरकार के साथ शांति सुलह को संदर्भित करती है, जिसके कारण अंततः शांति समझौते हुए।

भाषा

प्रशांत नरेश

नरेश

यह खबर ‘भाषा’ न्यूज़ एजेंसी से ‘ऑटो-फीड’ द्वारा ली गई है. इसके कंटेट के लिए दिप्रिंट जिम्मेदार नहीं है.

share & View comments