news on international politics
ब्रिटिश प्रधानमंत्री थेरेसा मे की फाइल फोटो | गेटी इमेज
Text Size:
  • 10
    Shares

लंदन: ब्रिटेन की प्रधानमंत्री थेरेसा मे के खिलाफ बुधवार को संसद में लाया गया अविश्वास प्रस्ताव गिर गया. विपक्षी लेबर पार्टी थेरेसा के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लेकर आई थी. लेबर पार्टी के नेता जेरेमी कोर्बिन ने संसद में इस प्रस्ताव को पेश किया था. इस प्रस्ताव के पक्ष में 306 जबकि विरोध में 325 वोट पड़े. इसका मतलब है कि सिर्फ 19 वोटों के अंतर से यह प्रस्ताव खारिज हुआ है.

इससे पहले यूरोपीय संघ (ईयू) से ब्रिटेन के अलग होने को लेकर हुआ समझौता संसद में खारिज हो गया. थेरेसा मे सोमवार को सांसदों के समक्ष अन्य वैकल्पिक ब्रेक्सिट समझौता पेश करेंगी.

कोर्बिन ने अविश्वास प्रस्ताव पर वोटिंग से पहले छह घंटे तक हुई बहस में थेरेसा मे को बताया कि यदि सरकार संसद के माध्यम से विधेयक को लागू नहीं कर सकती है तो उन्हें नए जनादेश के लिए दोबारा जनता के बीच जाना होगा. कोर्बिन ने थेरेसा मे को जॉम्बी सरकार का नेता बताते हुए कहा, ‘प्रधानमंत्री नियंत्रण खो चुकी हैं और सरकार शासन करने की क्षमता खो चुकी हैं.’

कोर्बिन ने कहा कि पिछले प्रधानमंत्री ने समान स्थिति में पद से इस्तीफा दे दिया था. थेरेसा ने अपने संबोधन में कहा कि दोबारा आम चुनाव से ब्रिटेन के लिए सबसे खराब स्थिति होगी.


  • 10
    Shares
Share Your Views

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here