Monday, 6 December, 2021
होमविदेशचीन की नाकेबंदी के बाद फिलीपीन्स ने आपूर्ति नौकाओं को फिर से तैनात किया

चीन की नाकेबंदी के बाद फिलीपीन्स ने आपूर्ति नौकाओं को फिर से तैनात किया

फिलीपीन्स सरकार ने पिछले सप्ताह चीनी तट रक्षक जहाजों पर विवादित दक्षिण चीन सागर में अपनी नौकाओं पर पानी की बौछार करने का आरोप लगाया था और इस घटना की निंदा की थी.

Text Size:

मनीलाः फिलीपीन्स की सेना ने दक्षिण चीन सागर में एक विवादित ‘शोल’ (द्वीप) की रखवाली करने वाले नौसैनिकों को भोजन उपलब्ध कराने के लिए सोमवार को दो आपूर्ति नौकाएं फिर से तैनात कीं. फिलीपीन्स ने पिछले सप्ताह चीनी तटरक्षक जहाजों पर विवादित दक्षिण चीन सागर में अपनी नौकाओं पर पानी की बौछार करने का आरोप लगाया था.

रक्षा मंत्री डेल्फिन लोरेंजाना ने कहा कि नौसेना कर्मियों को लेकर लकड़ी के पतवार वाली दो असैन्य नौकाएं पश्चिमी पलावान प्रांत से निकली हैं और ये रात भर की यात्रा के बाद दूसरे ‘थॉमस शोल’ में नौसेना के जहाज पर तैनात नौसैनिकों तक पहुंचनी चाहिए.

लोरेंजाना ने कहा कि नौकाओं को मनीला में चीन के राजदूत के अनुरोध के अनुसार नौसेना या तटरक्षक द्वारा नहीं ले जाया जा रहा है. उन्होंने कहा कि सप्ताहांत में बातचीत में उन्हें आश्वासन दिया गया था कि नौकाओं को फिर से अवरुद्ध नहीं किया जाएगा.

लोरेंजाना ने संवाददाताओं से कहा, ‘चीनी राजदूत ने मुझे आश्वासन दिया कि नौकाओं को बाधित नहीं किया जाएगा.’

फिलीपीन्स सरकार ने पिछले सप्ताह चीनी तट रक्षक जहाजों पर विवादित दक्षिण चीन सागर में अपनी नौकाओं पर पानी की बौछार करने का आरोप लगाया था और इस घटना की निंदा की थी.

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

फिलीपीन्स के विदेश मंत्री तेओदोरो लोक्सिन जूनियर ने चीन के जहाजों को पीछे हटने का आदेश दिया और चीन को चेतावनी दी कि मनीला की आपूर्ति नौकाओं को अमेरिका के साथ एक पारस्परिक रक्षा संधि द्वारा भेजा गया है.

बीजिंग में, चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लिजियन ने फिलीपीन्स के विरोध का जवाब देते हुए कहा कि चीन के तट रक्षकों ने चीनी संप्रभुता को बरकरार रखा था क्योंकि फिलीपीन्स के जहाजों ने रात में बिना अनुमति के चीनी जल क्षेत्र में प्रवेश किया था.


यह भी पढ़ेंः कांग्रेस ने कहा ‘अरुणाचल प्रदेश में चीनी ‘घुसपैठ’ पर ‘चुप्पी’ तोड़ें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी’


 

share & View comments