Monday, 24 January, 2022
होमविदेशपरवेज़ मुशर्रफ की ट्विटर पर वापसी, पाकिस्तान के लोगों ने कहा- इंशाअल्लाह आप वतन लौटेंगे

परवेज़ मुशर्रफ की ट्विटर पर वापसी, पाकिस्तान के लोगों ने कहा- इंशाअल्लाह आप वतन लौटेंगे

नवाज शरीफ की सत्ता को हटाकर पाकिस्तान के राष्ट्रपति बने परवेज़ मुशर्रफ को लेकर काफी सारे लोग ये भी कह रहे हैं कि वो पाकिस्तान के 'असल गद्दार' हैं.

Text Size:

नई दिल्ली: पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति जनरल परवेज़ मुशर्रफ ने सोमवार को अपने आधिकारिक सोशल मीडिया का ऐलान किया. एक ट्वीट में उन्होंने अपने ट्विटर और फेसबुक एकाउंट का लिंक शेयर किया.

इस ऐलान के बाद पाकिस्तान के लोग उन्हें लेकर कई तरह की बातें कर रहे हैं. कुछ लोग कह रहे हैं कि अगर वो वतन वापस लौटते हैं तो उन्हें फांसी दे दी जाएगी वहीं कुछ इस उम्मीद में हैं कि तानाशाह मुशर्रफ के आने से पाकिस्तान इन दिनों जिन हालात से गुजर रहा है, उसमें तब्दीली आ सकती है.

परवेज़ मुशर्रफ की करीब पांच महीने के बाद ट्विटर पर वापसी हुई है. सोमवार से पहले उन्होंने पिछले साल पाकिस्तान के स्वतंत्रता दिवस यानी कि 14 अगस्त 2021, को आखिरी ट्वीट किया था.

एआरवाई न्यूज़ मुल्तान/दक्षिण पंजाब के ब्यूरो चीफ यासिर शेख ने ट्वीट कर कहा, ‘इंशाअल्लाह आप जल्द ही अपने वतन वापस लौटेंगे और बड़े साहस और बहादुरी के साथ खुद पर लगे गंभीग राजद्रोह का मुकदमा लड़ेंगे.’

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

नवाज शरीफ की सत्ता को हटाकर पाकिस्तान के राष्ट्रपति बने परवेज़ मुशर्रफ को लेकर काफी सारे लोग ये भी कह रहे हैं कि वो पाकिस्तान के ‘असल गद्दार’ हैं.

इसके इतर कुछ ऐसे भी लोग हैं जो ट्विटर पर काफी समय के बाद हुई उनकी वापसी के बारे में पूछ रहे हैं. पत्रकार और स्तंभकार यूसुफ जमील ने कहा, ‘आपने आखिरी बार 14 अगस्त 2021 को ट्वीट किया था. इतने लंबा गैप क्यों?’

हालांकि कुछ लोग मुशर्रफ को उनकी गलती के बारे में भी याद दिला रहे हैं.

एक यूज़र ने लिखा, ‘आपसे बार-बार कहा गया कि आप अपनी वर्दी न उतारें और जनरल कयानी राशी को बाहर करें लेकिन आपने अपना काम किया. आपको नवाज शरीफ को फांसी देनी चाहिए थी लेकिन आपने ऐसा नहीं किय. और आसिफ जरदारी को एनआरओ नहीं देना चाहिए था लेकिन ऐसा नहीं हुआ. आज देश बर्बाद हो रहा है.’

एक अन्य यूज़र ने कहा, ‘हम आपको याद करते हैं. अगर आप 10 साल और होते तो आज देश बेहतर स्थिति में होता.’

 


यह भी पढ़ें: दिग्गज गायिका लता मंगेशकर कोविड-19 से संक्रमित, ज्यादा उम्र के कारण ICU में भर्ती


मुशर्रफ और भारत

भारतीयों के पास भी कई कारण हैं कि वो पाकिस्तान के पूर्व तानाशाह को याद करें. चाहे वो 1999 में हुआ तख्तापलट हो या फिर करगिल युद्ध, जिसके बाद भारत-पाकिस्तान के बीच रिश्ते काफी तल्ख हो गए थे. यहां तक कि भारतीय लोगों को परवेज़ मुशर्रफ के 2001 के उस दौरे के बारे में भी याद है जब वो तत्कालीन भारतीय प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी से आगरा समिट को लेकर मिले थे.

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के हेयरस्टाइल को लेकर दिया गया उनका बयान आज भी लोगों के ज़हन में है.

2016 में एमएस धोनी पर बनी फिल्म में भी मुशर्रफ के बयान का क्लिप मौजूद है. 2005-06 में जब भारतीय टीम पाकिस्तान के दौरे पर थी, तब एक मैच के आखिर में मुशर्रफ ने कहा था, ‘मैंने मैदान में कई प्लेकार्ड लगे देखें, जिसमें ‘धोनी को हेयर कट की सलाह’ दी जा रही है, लेकिन धोनी आप मेरी राय माने तो आपको अपने बाल नहीं कटवाने चाहिए, इन बालों में आप काफी अच्छे दिखते हैं.’

(इस खबर को अंग्रेज़ी में पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें)


यह भी पढ़ें: मोहल्ला क्लीनिक में हुई लापरवाही पर NCPCR ने मांगी दिल्ली सरकार से रिपोर्ट, BJP ने कहा- मौत के क्लीनिक


 

share & View comments