news on international politics
जुआन गुआइदो | ब्लूमबर्ग
Text Size:
  • 10
    Shares

मैड्रिड: स्पेन और यूरोपीय संघ (ईयू) से जुड़े 18 अन्य देशों ने अमेरिका समर्थित वेनेजुएला के विपक्षी नेता जुआन गुआइदो को देश के अंतरिम राष्ट्रपति के रूप में समर्थन और मान्यता देने के एक संयुक्त घोषणा पत्र पर हस्ताक्षर किए हैं.

इस बीच मदुरो ने यूरोपीय देशों से अमेरिकी प्रभाव में न आते हुए इस गतिरोध पर तटस्थ रुख अपनाने का आग्रह किया है. मदुरो ने कहा, ‘यूरोप को एक संतुलित और सम्मानजनक स्थिति बनाए रखनी चाहिए.’

घोषणा पत्र पर 19 यूरोपीय देशों द्वारा हस्ताक्षर करने का उद्देश्य स्वतंत्र, निष्पक्ष और लोकतांत्रिक राष्ट्रपति चुनावों के आह्वान के साथ नेशनल असेंबली के अध्यक्ष जुआन गुआइदो को वेनेजुएला के अंतरिम राष्ट्रपति के रूप में घोषित करना है.

‘एफे’ के अनुसार, इस घोषणा पर हस्ताक्षर करने वाले देशों में स्पेन, पुर्तगाल, जर्मनी, ब्रिटेन, डेनमार्क, हॉलैंड, फ्रांस, हंगरी, ऑस्ट्रिया, फिनलैंड, बेल्जियम, लक्समबर्ग, चेक रिपब्लिक, लातविया, लिथुआनिया, एस्टोनिया, पोलैंड, स्वीडन और क्रोएशिया शामिल हैं.

यूरोपीय सदस्यों ने वेनेजुएला के राष्ट्रपति निकोलस मदुरो को नए सिरे से राष्ट्रपति चुनाव कराने का अल्टीमेटम दिया था, जिसमें विफल रहने पर यह कदम उठाया गया.

स्पेन के प्रधानमंत्री प्रेडो सांचेज ने मैड्रिड में अपने आधिकारिक निवास में एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘हमारा लक्ष्य जल्द से जल्द चुनाव कराना है. यह चुनाव किसी तरह के बहिष्कार के बिना स्वतंत्र व लोकतांत्रिक होने चाहिए.’ इसके साथ ही उन्होंने कहा कि वह वेनेजुएला के लिए एक मानवीय सहायता पैकेज तैयार करने के लिए यूरोपीय संघ के सदस्य देशों और संयुक्त राष्ट्र के साथ बात करेंगे.

संयुक्त बयान जारी होने से थोड़ी देर पहले ही ईयू की विदेश नीति की प्रमुख फेडरिका मोघेरिनी ने कहा कि गुआइदो को अंतरिम राष्ट्रपति के रूप में मान्यता देना केवल ईयू की जिम्मेदारी नहीं है बल्कि यह हर सदस्य देश की व्यक्तिगत जिम्मेदारी के दायरे में आता है.


  • 10
    Shares
Share Your Views

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here