Saturday, 28 May, 2022
होमदेशTMC ने इस साल विधानसभा चुनावों में 154 करोड़ रुपये से ज्यादा खर्च किए, दूसरे नंबर पर DMK

TMC ने इस साल विधानसभा चुनावों में 154 करोड़ रुपये से ज्यादा खर्च किए, दूसरे नंबर पर DMK

तमिलनाडु में अपनी प्रतिद्वंद्वी अन्नाद्रमुक से सत्ता छीनने वाली द्रविड़ मुनेत्र कषगम (डीएमके) ने राज्य के साथ-साथ केंद्र शासित प्रदेश पुडुचेरी में चुनाव प्रचार पर 114.14 करोड़ रुपये से अधिक खर्च किए.

Text Size:

नई दिल्ली: पश्चिम बंगाल में जबर्दस्त बहुमत के साथ सत्ता में लौटने वाली तृणमूल कांग्रेस ने प्रदेश में इस साल हुए विधानसभा चुनावों में प्रचार पर 154.28 करोड़ रुपए खर्च किए.

तमिलनाडु में अपनी प्रतिद्वंद्वी अन्नाद्रमुक से सत्ता छीनने वाली द्रविड़ मुनेत्र कषगम (डीएमके) ने राज्य के साथ-साथ केंद्र शासित प्रदेश पुडुचेरी में चुनाव प्रचार पर 114.14 करोड़ रुपये से अधिक खर्च किए. इन पार्टियों ने यह जानकारी चुनाव आयोग को अपने चुनाव ख़र्च विवरण में दी है.

आयोग ने राजनीतिक दलों के इन खर्चों का विवरण अपनी वेबसाइट पर सार्वजनिक किया है.

चुनाव से पहले तमिलनाडु में सत्ता पर काबिज अन्नाद्रमुक ने विधानसभा चुनावों में प्रचार पर 57.33 करोड़ से ज्यादा रुपए खर्च किए. इसमें पुडुचेरी में विधानसभा चुनाव में प्रचार पर किए गए खर्च भी शामिल हैं.

असम, केरल, पुडुचेरी, तमिलनाडु और पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने 84.93 करोड़ से अधिक रुपए प्रचार पर खर्च किए हैं. इसी तरह भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी ने चार राज्यों और एक केंद्र शासित प्रदेश में चुनाव प्रचार पर 13.19 करोड़ रुपए खर्च किए.

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

तृणमूल कांग्रेस, भाकपा और कांग्रेस मान्यता प्राप्त राष्ट्रीय पार्टी हैं, जबकि द्रमुक और अन्नाद्रमुक की मान्यता क्षेत्रीय दल के रूप में है.

भाजपा द्वारा इन राज्यों में विधानसभा चुनाव में प्रचार पर किया गया खर्च अब तक उपलब्ध नहीं हो पाया है.

 

share & View comments