Friday, 27 May, 2022
होमराजनीतिRPN सिंह बोले- कांग्रेस पहले जैसी नहीं रही'; तो पार्टी ने किया पलटवार, कहा- कायर नहीं लड़ सकते ये लड़ाई

RPN सिंह बोले- कांग्रेस पहले जैसी नहीं रही’; तो पार्टी ने किया पलटवार, कहा- कायर नहीं लड़ सकते ये लड़ाई

आरपीएन सिंह सिंह ने कांग्रेस का साथ छोड़ बीजेपी का दामन थाम लिया है. उन्होंने कहा कि कांग्रेस अब पहले जैसी नहीं रही.

Text Size:

नई दिल्लीः कांग्रेस का दामन छोड़ बीजेपी में शामिल होने वाले पडरौना के राजा आरपीएन सिंह ने कहा कि कांग्रेस अब पहले वाली कांग्रेस नहीं रही. उन्होंने कहा, ‘मैंने जीवन के 32 साल एक पार्टी में दिए लेकिन कांग्रेस अब पहले वाली कांग्रेस नहीं रही. मैं एक कार्यकर्ता की तरह पीएम मोदी के सपनों को पूरा करने के लिए काम करूंगा.’ उन्होंने ट्वीट किया, ‘यह मेरे लिए नई शुरुआत है मैं दूरदर्शी प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में देश निर्माण में सहायता करूंगा.’

उन्होंने ट्वीट कर यह भी कहा, ‘जब हम अपने गणतंत्र के निर्माण की खुशियां मना रहे हैं ऐसे समय में मैं अपने नए राजनीतिक सफर की शुरुआत करने जा रहा हूं.’

बता दें कि मंगलवार को उन्होंने केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान, यूपी के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्या, दिनेश शर्मा और ज्योतिरादित्य सिंधिया इत्यादि की उपस्थिति में बीजेपी ज्वाइन किया. यूपी विधानसभा चुनाव के पहले कांग्रेस के लिए यह बड़ा झटका है.

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

कांग्रेस ने कहा लड़ाई लड़ना कायरों का काम नहीं

वहीं कांग्रेस ने इस पर पलटवार करते हुए कहा कि पार्टी जो लड़ाई लड़ रही है वह बहादुरी के साथ ही लड़ी जा सकती है. इसके लिए साहस और मजबूती की जरूरत होती है. क्योंकि यह लड़ाई एक दंभकारी सरकार, उनके अहंकार, पूंजीवाद और हर तरह के लांछन के खिलाफ लड़ रहे. कांग्रेस प्रवक्ता सुप्रिया श्रीनेत ने कहा, ‘आधिकारिक रूप से हमें नहीं पता कि वह कहां जा रहे हैं लेकिन वह जहां भी जा रहे हैं हमारी शुभकामनाएं उनके साथ है, और आशा करते हैं समय रहते उन्हें पता चले कि शिद्दत के साथ लड़ाई लड़ना वीरों की निशानी है. उन्होंने कहा कि प्रियंका गांधी जी कहती हैं कि कायर लोग इस लड़ाई को नहीं लड़ सकते.’

वहीं झारखंड कांग्रेस प्रमुख राजेश ठाकुर ने आरपीएन सिंह के पार्टी छोड़ने पर कहा, ‘यह काफी दुखद है, बहुत से इंचार्ज आए और गए. इससे कोई फर्क नहीं पड़ता. उन्हें काफी सोच विचार के बाद फैसला करना चाहिए था. हम लोग कांग्रेस के वास्तविक सिपाही हैं, हम यहीं जिएंगे और यहीं मरेंगे. मुझे लगता है कि उनका फैसला गलत है.’

दो और कांग्रेसी नेता हुए BJP में शामिल

एआईसीसी के झारखंड के इंचार्ज आरपीएन सिंह के अलावा कांग्रेस के ही दो और नेता शशी वालिया और राजेंद्र अवाना भी पार्टी में शामिल हुए. शशी वालिया कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता और सहारनपुर में 20 सालों तक जिलाध्यक्ष रहे थे. वहीं राजेंद्र अवाना कांग्रेस के प्रदेश सचिव रहे हैं और नोएडा से विधानसभा चुनाव भी लड़ा है.

 RPN सिंह के बीजेपी में शामिल होने पर आए रिएक्शन

झारखंड की कांग्रेस नेता अंबा प्रसाद ने आरपीएन सिंह पर पिछले एक साल से बीजेपी के साथ सांठ-गांठ कर सरकार को अपदस्थ करने का आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि आरपीएन सिंह के पार्टी छोड़ने से हर सच्चा कांग्रेसी खुश है.

टीएमसी नेता महुआ मोइत्रा ने कहा कि जिसने पिछले एक दशक में एक सीट भी नहीं जीती वह अब चुनाव आ जाने पर बीजेपी में शामिल हो रहे.

RPN सिंह कांग्रेस सरकार में रह चुके हैं मंत्री

कुवंर रणजीत प्रताप नारायण सिंह को आम तौर पर पडरौना के राजा साहेब के नाम से जाना जाता है. आरपीएन सिंह कांग्रेस सरकार में साल 2012-14 के बीच गृह राज्य मंत्री रह चुके हैं. 15वीं लोकसभा के लिए वह कुशीनगर से सांसद थे. सैंथवार की राज परिवार से संबंध रखने वाले 57 आरपीएन सिंह 1996 से लेकर 2009 तक पडरौना से विधायक रहे हैं.


यह भी पढ़ेंः पडरौना के ‘राजा साहेब’ RPN Singh ने कांग्रेस का हाथ छोड़ थाम लिया BJP का दामन, जानें उनका राजनीतिक सफर


 

share & View comments