scorecardresearch
Friday, 12 July, 2024
होमचुनावकर्नाटक विधानसभा चुनाव'मैं आपसे बहुत खुश हूं', PM मोदी ने पूर्व मंत्री ईश्वरप्पा से की बात तो कांग्रेस बोली- BJP को भ्रष्टाचार पसंद है

‘मैं आपसे बहुत खुश हूं’, PM मोदी ने पूर्व मंत्री ईश्वरप्पा से की बात तो कांग्रेस बोली- BJP को भ्रष्टाचार पसंद है

ईश्वरप्पा ने कहा, मैंने सपने में भी नहीं सोचा था कि प्रधानमंत्री मुझे फोन करेंगे. उनके फोन कॉल ने मुझे प्रेरित किया है. हम शिवमोगा शहर में चुनाव जीतेंगे. हम कर्नाटक में भाजपा की सरकार बनाने के लिए भी हर संभव प्रयास करेंगे.

Text Size:

शिवमोगा/नई दिल्ली:  प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कर्नाटक की शिवमोगा विधानसभा सीट से अपने बेटे को उम्मीदवार ना बनाए जाने के बावजूद कर्नाटक विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की जीत सुनिश्चित करने में लगे पूर्व मंत्री और मौजूदा विधायक के एस ईश्वरप्पा की सराहना की और कहा कि उन्होंने पार्टी के लिए जो प्रतिबद्धता दिखाई है, उससे वह प्रभावित हुए हैं.

हाल ही में चुनावी राजनीति से संन्यास की घोषणा करने वाले ईश्वरप्पा ने एक वीडियो भी साझा किया जिसमें वह फोन पर मोदी से बात करते नजर आ रहे हैं.

वीडियो में प्रधानमंत्री को यह कहते हुए सुना जा सकता है, ‘‘आपने पार्टी के प्रति अपनी प्रतिबद्धता का प्रदर्शन किया है. मैं आपसे बहुत खुश हूं. इसलिए, मैंने आपसे बात करने का फैसला किया.’’

मोदी को यह कहते हुए भी सुना जा सकता है कि जब भी वह चुनावी राज्य कर्नाटक का दौरा करेंगे तो उनसे अवश्य मुलाकात करेंगे.

इसके जवाब में ईश्वरप्पा ने मोदी से कहा कि भाजपा आगामी चुनाव जीतेगी.

बाद में संवाददाताओं से बातचीत करते हुए ईश्वरप्पा ने कहा, ‘‘मैंने सपने में भी नहीं सोचा था कि प्रधानमंत्री मुझे फोन करेंगे. उनके फोन कॉल ने मुझे प्रेरित किया है. हम शिवमोगा शहर में चुनाव जीतेंगे. हम कर्नाटक में भाजपा की सरकार बनाने के लिए भी हर संभव प्रयास करेंगे.’’

पूर्व मंत्री ने यह भी कहा कि जब पार्टी अध्यक्ष जे पी नड्डा और भाजपा महासचिव (संगठन) बी एल संतोष ने फोन कर उनसे चुनावी राजनीति से संन्यास लेने का अनुरोध किया, तो उन्होंने कुछ और नहीं सोचा और जल्दी ही अपने फैसले को सार्वजनिक भी कर दिया.

पूर्व उपमुख्यमंत्री ईश्वरप्पा ने हाल ही में भाजपा के केंद्रीय नेतृत्व को चुनावी राजनीति से संन्यास लेने की अपनी इच्छा से अवगत कराया था. हालांकि, कहा जाता है कि इस निर्वाचन क्षेत्र से पांच बार विधायक रहे ईश्वरप्पा ने अपने बेटे के. ई. कांतेश के लिए टिकट मांगा था.

बहरहाल, पार्टी ने वरिष्ठ नेता के अनुरोध को नजरअंदाज करते हुए चन्नबसप्पा को टिकट दिया है.

बेलगावी में सार्वजनिक कार्यों पर 40 प्रतिशत कमीशन लेने का ईश्वरप्पा पर आरोप लगाते हुए एक ठेकेदार संतोष पाटिल ने आत्महत्या कर ली थी. इसके बाद ईश्वरप्पा ने अप्रैल 2022 में ग्रामीण विकास और पंचायत राज मंत्री के पद से इस्तीफा दे दिया था. बाद में जांच में उन्हें क्लीन चिट दे दी गई.


यह भी पढ़ें: ‘मेरी पहली पसंद BJP थी’- कर्नाटक चुनाव से पहले अब लिंगायत नेता ने छोड़ी भाजपा, JD(S) ने दिया टिकट


भाजपा भ्रष्टाचार का समर्थन करती है 

कांग्रेस ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा कर्नाटक के पूर्व मंत्री के एस ईश्वरप्पा से फोन पर बात किए जाने के बाद भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर भ्रष्टाचार का समर्थन करने का शुक्रवार को आरोप लगाया.

कांग्रेस ने कहा कि चुनाव में टिकट न दिए जाने के बावजूद बगावत नहीं करने के लिए ईश्वरप्पा को प्रधानमंत्री द्वारा बधाई देना ‘‘अस्वीकार्य है.’’

गौरतलब है कि बेलगावी में सार्वजनिक कार्यों पर 40 प्रतिशत कमीशन लेने का ईश्वरप्पा पर आरोप लगाते हुए एक ठेकेदार संतोष पाटिल ने आत्महत्या कर ली थी. इसके बाद ईश्वरप्पा ने अप्रैल 2022 में ग्रामीण विकास और पंचायत राज मंत्री के पद से इस्तीफा दे दिया था. बाद में जांच में उन्हें क्लीन चिट दे दी गई.

पूर्व उपमुख्यमंत्री ईश्वरप्पा ने हाल ही में भाजपा के केंद्रीय नेतृत्व को चुनावी राजनीति से संन्यास लेने की अपनी इच्छा से अवगत कराया था. हालांकि, कहा जाता है कि इस निर्वाचन क्षेत्र से पांच बार विधायक रहे ईश्वरप्पा ने अपने बेटे के. ई. कांतेश के लिए टिकट मांगा था.

कांग्रेस ने शुक्रवार को ट्वीट किया, ‘‘यह व्यक्ति 40 प्रतिशत कमीशन मांगने का आरोपी है और भाजपा कार्यकर्ता संतोष पाटिल की आत्महत्या के बाद भ्रष्टाचार के आरोपों पर इस्तीफा देना पड़ा था.’’

पार्टी ने कहा, ‘‘ऐसे भ्रष्ट नेताओं की तारीफ कर भाजपा साफ संदेश दे रही है कि वह भ्रष्टाचार और अवैध गतिविधियों का समर्थन करती है.’’

कांग्रेस ने यह हमला तब किया है जब ईश्वरप्पा ने एक वीडियो साझा किया जिसमें वह फोन पर मोदी से बात करते नजर आ रहे हैं.

वीडियो में प्रधानमंत्री को यह कहते हुए सुना जा सकता है, ‘‘आपने पार्टी के प्रति अपनी प्रतिबद्धता का प्रदर्शन किया है. मैं आपसे बहुत खुश हूं. इसलिए, मैंने आपसे बात करने का फैसला किया.’’

मोदी को यह कहते हुए भी सुना जा सकता है कि जब भी वह चुनावी राज्य कर्नाटक का दौरा करेंगे तो उनसे अवश्य मुलाकात करेंगे.

कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला ने बेंगलुरु में कहा कि यह जम्मू कश्मीर के पूर्व राज्यपाल सत्यपाल मलिक की उन टिप्पणियों को साबित करता है कि ‘‘प्रधानमंत्री को भ्रष्टाचार से कोई दिक्कत नहीं है.’’

सुरजेवाला ने कहा, ‘‘यह भारत के लोकतंत्र के लिए दुखद दिन है. प्रधानमंत्री मोदी ने 40 प्रतिशत भ्रष्टाचार पर अपनी मुहर लगा दी है. उन्होंने बताया है कि भाजपा के लिए जान की कोई कीमत नहीं है. प्रधानमंत्री ने बगावत न करने के लिए भाजपा नेता ईश्वरप्पा को फोन किया.’’

उन्होंने कहा, ‘‘ईश्वरप्पा पर 40 प्रतिशत कमीशन मांगने का आरोप है और उन्हें भाजपा कार्यकर्ता संतोष पाटिल की आत्महत्या के बाद भ्रष्टाचार के आरोपों पर इस्तीफा देना पड़ा था.’’

कांग्रेस नेता ने दावा किया कि प्रधानमंत्री ने ईश्वरप्पा से बात की लेकिन उन्होंने संतोष पाटिल या उनके परिवार के सदस्यों से बात करना भी जरूरी नहीं समझा.

कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा ने भी सत्यपाल मलिक की टिप्पणियों का हवाला दिया और कहा कि प्रधानमंत्री सिर्फ वोटों के लिए ऐसे नेता का समर्थन मांग रहे हैं जिसे मंत्री पद से हटा दिया गया है.


यह भी पढ़ें: कर्नाटक में ईश्वरप्पा के बेटे को नहीं मिला टिकट, शिवमोग्गा के लिए BJP के पास है लिंगायत कैंडीडेट


 

share & View comments