फोटो | Manvender Vashist
Text Size:
  • 542
    Shares

नई दिल्ली: राजनीतिक संवाद के स्तर में आई गिरावट के बीच पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने अपने परवर्ती नरेंद्र मोदी से सोमवार को सार्वजनिक भाषणों में संयम बरतने की अपील की.

मनीष तिवारी की किताब ‘फेबल्स ऑफ फ्रैक्चर्ड टाइम्स’ के विमोचन के दौरान सिंह से जब राजनेताओं की भाषा के स्तर में आई गिरावट पर उनकी राय मांगी गई तो उन्होंने कहा, ‘प्रधानमंत्री को मेरी सलाह है कि वह संयम बरतें जो प्रधानमंत्री की तरह हो. प्रधानमंत्री जब उन राज्यों में जाते हैं जहां भाजपा का शासन नहीं है तब उनका दायित्व होता है कि वह उस तरह की भाषा का इस्तेमाल न करें जिसका अब आमतौर पर व्यवहार हो रहा है.’

सिंह ने कहा कि उन्होंने और कांग्रेस की अगुवाई में संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) की सरकार ने कभी उस तरह का भेदभाव नहीं किया जिस तरह का व्यवहार मोदी रोज कर रहे हैं.

उन्होंने कहा, ‘हमने भाजपा शासित राज्यों के साथ कभी भेदभाव नहीं किया. (मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री) शिवराज सिंह खुद इस बात का सत्यापन कर सकते हैं. हमने वह सम्मान दिया जिसके वह अधिकारी थे.’

उन्होंने मोदी से मिसाल कायम करने की अपील की.

सिंह ने कहा, ‘वह सभी भारतवासियों के प्रधानमंत्री हैं. उनका आचरण अवश्य योग्य होना चाहिए और प्रधानमंत्री के तौर पर उनके दायित्व के अनुरूप होना चाहिए.’


  • 542
    Shares
Share Your Views

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here