Monday, 8 August, 2022
होमराजनीति'अंतिम सांस तक शिवसेना के लिए लड़ता रहूंगा,' ED के नोटिस के बाद बोले संजय राउत

‘अंतिम सांस तक शिवसेना के लिए लड़ता रहूंगा,’ ED के नोटिस के बाद बोले संजय राउत

धनशोधन के एक मामले की जांच के सिलसिले में पूछताछ के लिए 28 जून को मुंबई स्थित ईडी दफ्तर में संजय राउत को पूछताछ के लिए बुलाया गया है.

Text Size:

नई दिल्ली: महाराष्ट्र में चल रहे सियासी हंगामा के बीच प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने शिवसेना के सांसद संजय राउत को नोटिस भेजा गया. यह नोटिस मुंबई की पात्रा ‘चॉल’ के पुन:विकास से जुड़े, धनशोधन के एक मामले की जांच के सिलसिले में पूछताछ के लिए 28 जून को मुंबई स्थित ईडी दफ्तर में संजय राउत को पूछताछ के लिए बुलाया गया है.

अधिकारियों ने बताया कि राज्यसभा के सदस्य राउत से कहा गया है कि वह 28 जून को दक्षिण मुंबई में स्थित संघीय जांच ईडी में उसके अधिकारियों के सामने पेश हों और धनशोधन रोकथाम कानून (पीएमएलए) के तहत अपना बयान दर्ज कराएं.

संजय राउत ने ट्वीट कर कहा कि, ‘मुझे अभी पता चला है कि ईडी ने मुझे तलब किया है.’

उन्होंने आगे कहा ‘महाराष्ट्र में ये बड़े राजनीतिक घटनाक्रम हैं. हम बालासाहेब के शिवसैनिक एक बड़ी लड़ाई लड़ रहे हैं. यह मुझे रोकने की साजिश है. भले ही आप मुझे मार दें लेकिन मैं गुवाहाटी मार्ग नहीं लूंगा. मुझे गिरफ्तार करो!’

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

यह घटनाक्रम ऐसे वक्त पर हुआ है जब शिवसेना के विधायकों की बगावत की वजह से महाराष्ट्र की महा विकास आघाड़ी (एमवीए) सरकार के भविष्य पर सवालिया निशान लगा हुआ है. शिवसेना नीत एमवीए गठबंधन में अन्य घटक राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी और कांग्रेस हैं.

ईडी ने अप्रैल में राउत की पत्नी वर्षा राउत और सांसद के दो सहयोगियों की 11.15 करोड़ रुपये की संपत्ति को अस्थायी तौर पर कुर्क कर लिया था.


यह भी पढ़ें: राउत ने बागी विधायकों के खिलाफ ‘लाश’ वाली टिप्पणी का बचाव किया, कहा- किसी को ठेस नहीं पहुंचाना चाहते


share & View comments