छत्तीसगढ़ में मतदान की फाइल फोटो. (पीटीआई)
Text Size:
  • 73
    Shares

नई दिल्ली: मध्य प्रदेश की 230 सदस्यीय विधानसभा सीटों के लिए बुधवार को मतदान हो रहा है. मतदान के शुरुआती एक घंटे में लगभग छह फीसदी और तीन घंटों में लगभग 13 फीसदी मतदान हुआ. इसके साथ ही 100 मतदान केंद्रों से ईवीएम मशीनों के खराब होने की खबर है, जिन्हें बदला गया.

पूर्व केंद्रीय मंत्री और मध्य प्रदेश की कांग्रेस इकाई की चुनाव प्रचार अभियान समिति के अध्यक्ष ज्योतिरादित्य सिंधिया ने ईवीएम मशीनों में गड़बड़ी पर चिंता जताते हुए निर्वाचन आयोग से इसकी शिकायत की। सिंधिया ने इससे पहले यहां फूलबाग स्थित एएमआई स्कूल के मतदान केंद्र जाकर मतदान किया।

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी बीएल कांताराव ने संवाददाताओं को बताया, ‘तीन मतदान केंद्रों पसरवाड़ा, लांजी और बैहर में सुबह सात बजे मतदान शुरू हुआ और शेष 227 विधानसभा क्षेत्रों में मतदान सुबह आठ बजे शुरू हुआ. पहले घंटे में 6.32 फीसदी वोट डाले गए.’

कांताराव ने माना कि प्रदेश के 100 मतदान केंद्रों से ईवीएम मशीनों के खराब होने की शिकायत आई है. इन मशीनों को आधे घंटे के भीतर बदल दिया गया. उन्होंने कहा कि कई स्थानों से रात में शराब, नकदी बांटे जाने से लेकर विवाद हुआ. इस पर आयोग कार्रवाई कर रहा है.

मतदान को लेकर आम मतदाताओं में उत्साह नजर आ रहा है. मतदान केंद्रों के बाहर मतदान शुरू होने से पहले ही मतदाताओं की कतारें देखी गई. सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं. केंद्रीय सुरक्षा बलों की 650 कंपनियां तैनात की गई हैं.

ज्योतिरादित्य सिंधिया ने ईवीएम मशीनों में गड़बड़ी पर चिंता जताते हुए उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ‘उन्हें विभिन्न विधानसभा क्षेत्रों से ईवीएम मशीनें खराब होने की शिकायतें मिल रही हैं. इसको लेकर उन्होंने मुख्य निर्वाचन आयुक्त और राज्य के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी से शिकायत की है और साथ ही अनुरोध किया है कि जिन स्थानों पर मशीनें खराब होने के चलते मतदान रुका वहां मतदान का समय बढ़ाया जाएं.’

(समाचार एजेंसी आईएएनएस से इनपुट के साथ)


  • 73
    Shares
Share Your Views

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here