Monday, 24 January, 2022
होमराजनीतिपंजाब कांग्रेस ने तय किए कैंडीडेट्स के नाम, जल्द जारी होगी पहली लिस्ट; दो जगह से चुनाव लड़ सकते हैं चन्नी

पंजाब कांग्रेस ने तय किए कैंडीडेट्स के नाम, जल्द जारी होगी पहली लिस्ट; दो जगह से चुनाव लड़ सकते हैं चन्नी

कांग्रेस कैंडीडेट्स के नामों की पहली लिस्ट जल्द ही जारी की जा सकती है. बताया जा रहा है कि पंजाब के मौजूदा मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी जो कि चमकौर साहिब सीट से विधायक हैं वे दो सीटों से चुनाव लड़ सकते हैं.

Text Size:

नई दिल्लीः पंजाब में आगामी विधानसभा चुनाव में कैंडीडेट्स के नामों पर मुहर लगाने के लिए कांग्रेस की केंद्रीय चुनाव समिति की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए गुरुवार को मीटिंग की गई.

कांग्रेस कैंडीडेट्स के नामों की पहली लिस्ट जल्द ही जारी की जा सकती है. बताया जा रहा है कि पंजाब के मौजूदा मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी जो कि चमकौर साहिब सीट से विधायक हैं वे दो सीटों से चुनाव लड़ सकते हैं.

सूत्रों के मुताबिक कांग्रेस ने 70 से ज्यादा कैंडीडेट्स तय कर लिए हैं. इनमें से ज्यादातर मौजूदा विधायक हैं. उम्मीद की जा रही है कि शुक्रवार को कांग्रेस के कैंडीडेट्स की लिस्ट जारी की जाएगी.

दो सीटों से लड़ सकते हैं चन्नी

सूत्र के मुताबिक, ‘चमकौर साहिब सीट जो कि माझा क्षेत्र में आती है, के साथ कांग्रेस चन्नी को आदमपुर क्षेत्र से भी चुनाव लड़ाना चाहती है जो कि दोआब क्षेत्र है और जहां पर दलितों वोट भी ज्यादा है, जो कि क्षेत्र में निर्णायक फैक्टर होगा. इसके अलावा यह भी आश्चर्य की बात नहीं होगी कि मौजूदा सांसदों को भी विधानसभा सीटों का टिकट दिया जाए.’

कांग्रेस सांसद जसबीर सिंह गिल ने कहा कि अगर पार्टी चाहेगी तो वे विधानसभा चुनाव जरूर लड़ेगे. आगे उन्होंने कहा कि लेकिन इसका फैसला पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी द्वारा किया जाएगा.

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

सांसदों को भी टिकट दे सकती है पार्टी

एक दूसरे सांसद ने नाम न बताने की शर्त पर कहा कि कांग्रेस प्रताप सिंह बाजवा को विधानसभा चुनाव लड़ा सकती है. बाजवा की राज्यसभा की सदस्यता मार्च में खत्म हो रही है. जब उनसे पूछा गया कि पार्टी ऐसा क्यों करना चाहती है तो उन्होने कहा कि इससे पार्टी दिखाना चाहती है कि वह चुनाव को लेकर गंभीर है और संदेश देना चाहती है कि वह चुनाव जीतना चाहती है.

उन्होंने पश्चिम बंगाल चुनाव में टीएमसी का उदाहरण दिया जहां पर एक दर्जन से ज्यादा मौजूदा सांसदों को विधानसभा का टिकट दिया गया. बीजेपी से कई राज्यों में हारने के बाद कांग्रेस पंजाब में फिर से एक बार सरकार बनाना चाहती है.

बता दें कि पंजाब में एक ही चरण में 14 फरवरी को चुनाव होने हैं. जबकि मतगणना 10 मार्च को होगी.

कांग्रेस को मिली थीं 77 सीटें

साल 2017 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने 77 सीटें हासिल करके ऐतिहासिक जीत दर्ज की थी और 10 साल बाद शिरोमणि अकाली दल व बीजेपी की गठबंधन सरकार को सत्ता से बाहर कर दिया था. 117 विधानसभा सीटों वाले पंजाब में आम आदमी पार्टी को 20 सीटें मिली थीं, जबकि शिरोमणि अकाली दल को 15 सीटें मिली थी व बीजेपी को 3 ही सीटें मिल सकी थीं.


यह भी पढ़ेंः पंजाब विधानसभा चुनाव के लिए अमरिंदर सिंह की पार्टी से बातचीत जारी: गजेंद्र शेखावत


 

share & View comments