Tuesday, 5 July, 2022
होमलास्ट लाफकेजरीवाल एल-जी के खिलाफ जीत गये हैं मैच, और मोदी को नौकरियों का नहीं मिल रहा है आंकड़ा

केजरीवाल एल-जी के खिलाफ जीत गये हैं मैच, और मोदी को नौकरियों का नहीं मिल रहा है आंकड़ा

Text Size:

दिप्रिंट के संपादकों द्वारा चुने गये दिन के सबसे अच्छे कॉर्टून

चयनित कार्टून पहले अन्य प्रकाशनों में प्रकाशित किए जा चुके हैं जैसे प्रिंट, ऑनलाइन या सोशल मीडिया पर और इन्हें उचित श्रेय भी मिला है।

फर्स्टपोस्ट में, कार्टूनिस्ट मंजुल दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की धरना रणनीति पर तंज करते है सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली के लेफ्टिनेंट गवर्नर अनिल बैजल और आम आदमी पार्टी के बीच संघर्ष में दिल्ली सरकार के पक्ष में फैसला लिया है ।

मंजुल / फर्स्टपोस्ट

(मुझे खुशी है कि वह संतुष्ट है मै नहीं चाहता कि वह मेरे कक्ष में धरना पर बैठे)

इसी तर्ज पर , द इकोनॉमिक टाइम्स में कार्टूनिस्ट आर प्रसाद ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद केजरीवाल की एल-जी बैजल के खिलाफ लगातार लड़ाई को प्रदर्शित किया है ।

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

आर प्रसाद। द इकोनॉमिक टाइम्स

(अब आप अपनी गवर्नर कुर्सी से उठ सकते हैं? कोर्ट आर्डर )

एशियन एज में, कार्टूनिस्ट गोकुल गोपालकृष्णन ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हालिया वक्तव्य में नौकरी पर डेटा के बारे में बात करते हुए एक साक्षात्कार का मज़ाक बनाया है। मोदी ने नौकरियों की कमी से ज्यादा कहा, वास्तविक मुद्दा नौकरियों पर अपर्याप्त डेटा है। उन्होंने संकेत दिया कि नौकरियां पैदा की गई हैं लेकिन माप नहीं की गई हैं।

एशियन एज । गोकुल गोपालकृष्णन

(डाटा मैन्युफैक्चरिंग यूनिट ,नौकरियों की कोई कमी नहीं, केवल डेटा की ,व्हाट्सप्प यूनिवर्सिटी स्नातक की जरुरत है )

अपने कार्टून में, साजिथ कुमार ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को उनके और दिल्ली एल-जी के बीच मुक्केबाजी मैच में विजेता के रूप में दर्शाया है ।

साजिथ कुमार । ट्विटर

(ऐसा नहीं लगता कि काम पर वापस आने के लिए उसके पास कोई ऊर्जा बची है!)

बीबीसी न्यूज़ में, कार्टूनिस्ट कीर्तिश भट्ट ने पीएम मोदी के बयान का मज़ाक उड़ाया है और दर्शाया है की भारतीय रोजगार के आंकड़े को तलाश करने की नौकरी ढूंढ रहे है ।

कीर्तिश भट्ट। बीबीसी हिंदी

मेल टुडे में कार्टूनिस्ट सतीश आचार्य भी पीएम मोदी पर नौकरियों के डेटा टिप्पणी पर तंज करते हैं।

सतीश आचार्य ।मेल टुडे

(पर्याप्त आंकड़े नहीं है भाई ,तुम्हे बेरोजगार साबित करने के लिए )

Read in English : Arvind Kejriwal wins match against L-G, and Modi can’t find jobs data

share & View comments