Saturday, 20 August, 2022
होमलास्ट लाफ'न्यू इंडिया' में खून चखने वाला औपनिवेशिक डायनासोर, और सरकार को अब रुपये के लिए JCB की जरूरत

‘न्यू इंडिया’ में खून चखने वाला औपनिवेशिक डायनासोर, और सरकार को अब रुपये के लिए JCB की जरूरत

दिप्रिंट के संपादकों द्वारा चुने गए पूरे दिन के सबसे अच्छे कार्टून.

Text Size:

दिप्रिंट के संपादकों द्वारा चयनित कार्टून पहले अन्य प्रकाशनों में प्रकाशित किए जा चुके हैं. जैसे- प्रिंट मीडिया, ऑनलाइन या फिर सोशल मीडिया पर.

आज के विशेष रूप से प्रदर्शित कार्टून में, मंजुल ने भारत के औपनिवेशिक युग के राजद्रोह कानून और इसके दुरुपयोग को चुनौती देने वाली याचिकाओं की सुनवाई करने वाले सर्वोच्च न्यायालय का उल्लेख किया है. बुधवार को, इसने राजद्रोह मामलों में सभी कार्यवाही पर रोक लगा दी, और केंद्र और राज्यों को निर्देश दिया कि वे इस तरह के आरोपों से संबंधित कोई नया मामला दर्ज न करें. सरकार इसकी फिर से जांच करेगी और सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई जुलाई में फिर से शुरू होगी, तब तक कानून को स्थगित रखा जाना है.

R Prasad | Twitter/@rprasad66R.

आर प्रसाद ने हेट स्पीच के खिलाफ दायर याचिकाओं के जवाब में सुप्रीम कोर्ट की टिप्पणियों का उल्लेख करते हैं. अदालत ने कहा कि उसका इरादा राज्यों से यह पूछने का है कि वे इस मामले पर पहले के फैसलों में निर्धारित हेट स्पीच पर दिशानिर्देशों का ‘सख्ती से’ पालन क्यों नहीं कर रहे थे. संविधान में केंद्र और राज्य सूचियों का हवाला देते हुए, प्रसाद भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार और हिंदुत्व नेताओं और समूहों द्वारा हेट स्पीच के कथित उदाहरणों पर कटाक्ष करते हैं.

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

राज्य और स्थानीय सरकारों द्वारा कथित रूप से अवैध निर्माणों को ध्वस्त करने के लिए ‘अतिक्रमण विरोधी अभियान’ शुरू करने के ट्रेंड पर ध्यान खींचा है, साजिथ कुमार डॉलर के मुकाबले रुपये के अब तक के सबसे निचले स्तर पर टिप्पणी करते हैं.

संदीप अध्वर्यु राजनीतिक रणनीतिकार प्रशांत किशोर के ‘राइट’ दृष्टिकोणों की तुलना करते हैं- जो अब गांधीवादी के रूप में चित्रित अवधारणाओं के बाद जमीनी स्तर पर काम पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं – और आम आदमी पार्टी और उसके प्रमुख, दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल, जो राजनीतिक राइट की ओर पिच बनाते नजर आ रहे हैं.

सतीश आचार्य संतूर उस्ताद पंडित शिवकुमार शर्मा को श्रद्धांजलि देते हैं जिनका मंगलवार को कॉर्डियाक अटैक से निधन हो गया था.
(इन कार्टून्स को अंग्रेजी में देखने के लिए यहां क्लिक करें)
share & View comments