news on terrorism
पुलिस टीम के साथ सफेद कुर्ते-पाजामे में आतंकी माजिद बाबा.
Text Size:

नई दिल्ली: दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल की साउथ वेस्टर्न रेंज को बड़ी सफलता मिली है. बताया गया है कि एसीपी संजय दत्त के सुपर विजन में इंस्पेक्टर राहुल और उनकी टीम ने जैश-ए-मोहम्मद के एक आंतकी को पकड़ा है. पकड़े गए आतंकी का नाम अब्दुल माजिद बाबा है. वह जम्मू-कश्मीर के सोपोर का रहने वाला है और इसके ऊपर 2 लाख़ रुपए का इनाम था.

आतंकी माजिद बाबा को 11 मई की शाम को श्रीनगर से गिरफ्तार किया गया था. एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में उसके बारे में जानकारी देते हुए दिल्ली पुलिस ने कहा कि फरवरी 2007 में एक पाक नागरिक शाहिद गफ्फूर और तीन अन्य लोगों को पकड़ा गया था जिनमें बाबा भी शामिल था. इनके अलावा फैयाज अहमद और बशीर अहमद पोनू शामिल थे. इन चारों को एक एनकाउंटर के बाद दिल्ली के दीन दयाल उपाध्याय मार्ग से पकड़ा गया था. इन पर आईपीसी की कई धाराओं के तहत मामला चलाया गया था.

पुलिस के मुताबिक तब इनके पास से विस्फोटक और हथियार बरामद हुए थे. पुलिस ने ये भी कहा कि ये लोग तब दिल्ली में एक आतंकी हमला करने आए थे. पुलिस ने कहा, ‘इस मामले में ट्रायल के बाद निचली अदालत ने पाकिस्तानी नागरिक को सज़ा दी थी और बाकी के तीन आरोपियों को 7 अगस्त 2013 को बरी कर दिया था. बाद में जब दिल्ली पुलिस ने हाईकोर्ट में अपील की तो 2014 में तीनों को आजीवन कारावास की सज़ा सुनाई गई.’

आगे बताया गया कि तब से ये तीनों फरार थे और पुलिस को इनकी तलाश थी. ये भी बताया गया कि इनके ख़िलाफ़ कई बार गैर ज़मानती वारंट भी जारी किया गया. पिछले पांच महीने से स्पेशल सेल की एक टीम को इन्हीं लोगों की गिरफ्तारी के लिए तैनात किया गया था. पुलिस ने कहा, ‘पहली सफलता 25 मार्च को तब मिली जब फैयाज अहमद को गिरफ्तार किया गया.’

इसके बाद निगरानी और आर्मी की मदद से बाबा को गिरफ्तार किया गया. पकड़े जाने के बाद उसको दिल्ली लाया गया जिसके बाद से वो ट्रांज़िट रिमांड पर है और उससे पूछताछ की जा रही है. इनकी गिरफ्तारी के पहले तीनों के ऊपर 2-2 लाख़ रुपए का इनाम भी रखा गया था. बशीर अहमद पोनू को गिरफ्तार किया जाना बाक़ी है.

बाबा के बारे में दिल्ली पुलिस ने अतिरिक्त जानकारी देते हुए कहा कि 2007 में गिरफ्तारी के पहले वो घाटी में मौजूद आतंकियों के लिए हमले और अन्य ज़रूरतों से जुड़ी चीज़ें मुहैया कराने का काम करता था. दिल्ली में भी ये और इसके साथी हथियार और धमाके का सामान लेकर आए थे.


Share Your Views

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here