Thursday, 30 June, 2022
होमदेश'बिकनी, घूंघट, जींस या हिजाब, इसे चुनना महिलाओं का अधिकार'- मलाला के बाद प्रिंयका गांधी ने ये कहा

‘बिकनी, घूंघट, जींस या हिजाब, इसे चुनना महिलाओं का अधिकार’- मलाला के बाद प्रिंयका गांधी ने ये कहा

हिजाब विवाद पर कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी ने कहा कि महिलाओं का शोषण बंद होना चाहिए.

Text Size:

नई दिल्ली: कर्नाटक में कॉलेज छात्रों के बीच चल रहे हिजाब विवाद पर नोबेल शांति पुरस्कार विजेता और सामाजिक कार्यकर्ता मलाला यूसुफजई ने कड़े शब्दों में कहा कि लड़कियों को स्कूल में एंट्री देने से रोकना भयावह है. वहीं कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी ने भी महिलाओं के शोषण को बंद करने की अपील की.

मंगलवार को एक ट्वीट में मलाला युसूफजई ने कहा, ‘हिजाब पहने हुए लड़कियों को स्कूल में एंट्री देने से रोकना भयावह है. कम या ज्यादा कपड़े पहनने के लिए महिलाओं का वस्तुकरण किया जाता रहा है.’

उन्होंने कहा, ‘भारतीय नेताओं को मुस्लिम महिलाओं को हाशिए पर जाने से रोकना चाहिए.’

पाकिस्तान के सूचना प्रसारण मंत्री चौधरी फवाद हुसैन ने भी इस विवाद पर अपनी प्रतिक्रिया दी है. उन्होंने कहा कि मोदी के भारत में जो चल रहा है वो भयावह है. अस्थिर नेतृत्व के अंतर्गत भारतीय समाज तेजी से नीचे की ओर जा रही है.

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

उन्होंने कहा, ‘हिजाब पहनना व्यक्तिगत पसंद है जैसे कि किसी व्यक्ति द्वारा कोई और ड्रेस पहनना.’

महिलाओं का शोषण बंद हो: प्रियंका गांधी

कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी ने भी ट्वीट कर कहा कि महिलाओं का शोषण बंद होना चाहिए.

उन्होंने कहा, ‘बिकनी हो, घूंघट हो, जींस हो या हिजाब, ये महिलाओं का अधिकार है कि वो क्या पहनना चाहती हैं. और ये अधिकार भारत का संविधान सुनिश्चित करता है.’


यह भी पढ़ें: इतने सारे पूर्व CMs लेकिन प्रचार से गायब- उत्तराखंड की चुनावी गतिविधियों में सक्रिय क्यों नहीं BJP के पुराने नेता


क्या है विवाद

हिजाब को लेकर विवाद पिछले महीने शुरू हुआ था जब कर्नाटक के उडूपी के सरकारी गर्ल्स पीयू कॉलेज में कथित तौर पर छह लड़कियों को कक्षा में प्रवेश करने से रोका गया था.

इसके बाद यह विवाद कर्नाटक के अलावा भाजपा शासित मध्य प्रदेश और पूडूचेरी में भी फैल गया. मंगलवार को इस विवाद के चलते कर्नाटक में प्रदर्शन हुए और कॉलेज परिसरों में पथराव की घटनाएं हुईं जिसके बाद पुलिस को बल प्रयोग करना पड़ा.

वहीं कर्नाटक के सीएम बसवराज बोम्मई ने इस विवाद के चलते तीन दिनों तक राज्य में स्कूलों को बंद करने का ऐलान किया और सभी से शांति की अपील की.

बता दें कि कर्नाटक हाई कोर्ट में इस मामले पर सुनवाई चल रही है.


यह भी पढ़ें: 8 महीने के बच्चे को थप्पड़ मारने, चूटी काटने और पीटकर बेहोश करने वाली सूरत की बेबीसीटर पुलिस हिरासत में


 

share & View comments