Saturday, 20 August, 2022
होमदेशरेलवे की 1,40,000 पदों वाली वैकेंसी से जुड़ी परीक्षा 15 दिसंबर को होगी, जल्द जारी होगा शेड्यूल

रेलवे की 1,40,000 पदों वाली वैकेंसी से जुड़ी परीक्षा 15 दिसंबर को होगी, जल्द जारी होगा शेड्यूल

कोरोना से पहले रेलवे में 1,40,000 वेकेंसी नोटिफाई की गई थीं जिसमें लगभग 2 करोड़ 42 लाख़ आवेदन आए थे. कंप्यूटर बेस्ड टेस्ट 15 दिसंबर से शुरू किए जाएंगे जिसका डिटेल शेड्यूल जल्दी जारी होगा

Text Size:

नई दिल्ली: रेलवे ने इसकी 1,40,000 पदों पर वेकेंसी से जुड़ी परीक्षा को 15 दिसंबर से शुरू कराने का निर्णय लिया है. ये परीक्षा कंप्यूटर आधारित होगी. इस बात की जानकारी रविवार को रेलवे बोर्ड के चेयरमैन विनोद कुमार यादव ने मीडिया को दी.

मीडिया को दी गई जानकारी में यादव ने कहा, ‘कोरोना से पहले रेलवे में 1,40,000 वेकेंसी नोटिफाई की गई थीं जिसमें लगभग 2 करोड़ 42 लाख़ आवेदन आए थे. किसी वजह से एग्ज़ाम नहीं हो पाया. अब निर्णय लिया गया है कि कंप्यूटर बेस्ड टेस्ट 15 दिसंबर से शुरू किए जाएंगे जिसका डिटेल शेड्यूल जल्दी जारी होगा.’

एक और बड़ी जानकारी ये साझा की गई कि असिस्टेंट लोको पायलट (एएलपी) में जिनका चयन हुआ है उन्हें भी जल्द ज्वाइन करवाया जाएगा. यादव ने कहा, ‘ALP में जिनका-जिनका सलेक्शन हुआ है उन सबको अप्वाइंटमेंट लेटर बहुत जल्दी दिया जाएगा. कोरोना के बीच ALP की ट्रेनिंग कैसे करवाई जाए ये प्लानिंग पूरी होते ही उन्हें ज्वाइन करवा लिया जाएगा.’

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

रेलवे और एसएससी की भर्ती परीक्षाओं को लेकर अभ्यार्थियों में काफ़ी रोष में है और वो अपना गुस्सा शौसल मीडिया के तमाम प्लेटफॉर्मस पर दिखा रहे हैं. छात्रों का गुस्सा पिछल दिनों पीएम नरेंद्र मोदी के मन की बात शो के वीडियो पर भी देखने को मिला. छात्रों ने पीएम मोदी के मन की बात शो को यूट्यूब के उन तमाम चैनलों पर जाकर अनलाइक किया जिनपर उसे पोस्ट किया गया था.

इसके अलावा शनिवार को #5बजे5मिनट का हैश टैग ट्रेंड कर रहा था. इस हैश टैग के साथ लाख़ों की संख्या में ट्वीट किए गए जिनमें युवा थाली-बर्तन पीटते नज़र आए.

हालांकि, इस ट्रेंड को विपक्षी पार्टियां भी शामिल नजर आए. कांग्रेस से जुड़े भारतीय राष्ट्रीय छात्र संघ (एनएसयूआई) ने केंद्र सरकार पर रोजगार मुहैया कराने में विफल रहने और कर्मचारी चयन आयोग (एसएससी) के परीक्षा परिणामों में देरी का आरोप लगाते हुए शनिवार को कनॉट प्लेस में प्रदर्शन किया.

एनएसयूआई ने दावा किया, ‘2017 बैच के चयनित एक भी सदस्य की अब तक नियुक्ति नहीं की गई है, एसएससी ने संयुक्त स्नातक स्तर की वर्ष 2018 के मुख्य परीक्षा के नतीजे आने के छह महीने बीत जाने के बाद भी साक्षात्कार की प्रक्रिया की शुरुआत नहीं की है.’

इस ट्रेंड में ना सिर्फ़ रेलवे एसएससी बल्कि अन्य तमाम तरीके की भर्तियों से जुड़े सवाल भी उठाए गए. @NidhiMa38506561 नाम के हैंडल से किए गए ऐसे ही एक ट्वीट में उत्तर प्रदेश में 69,000 शिक्षकों की भर्ती के मामले को भी उठाया गया.

 

share & View comments