Monday, 27 June, 2022
होमदेशमूडीज ने 2020 में भारत के वृद्धि अनुमान को घटाकर किया 0.2%, कोविड-19 के कारण अर्थव्यवस्था हो रही है प्रभावित

मूडीज ने 2020 में भारत के वृद्धि अनुमान को घटाकर किया 0.2%, कोविड-19 के कारण अर्थव्यवस्था हो रही है प्रभावित

मूडीज ने कहा कि कोरोनावायरस संकट के चलते वैश्विक अर्थव्यवस्था के बंद होने की आर्थिक लागत तेजी से बढ़ रही है.

Text Size:

नई दिल्ली: मूडीज इन्वेस्टर्स सर्विस ने मंगलवार को वर्ष 2020 के लिए भारत के वृद्धि अनुमान को घटाकर 0.2 प्रतिशत कर दिया, जबकि मार्च में उसने इसके 2.5 प्रतिशत रहने की उम्मीद जताई थी.

मूडीज को उम्मीद है कि 2021 में भारत की वृद्धि दर 6.2 प्रतिशत रह सकती है.

मूडीज ने ‘ग्लोबल मैक्रो आउटलुक 2020-21 (अप्रैल 2020 में अद्यतन)’ में 2020 के दौरान जी20 देशों की वृद्धि दर के अनुमानों में 5.8 प्रतिशत की कमी की.

मूडीज ने कहा कि कोरोनावायरस संकट के चलते वैश्विक अर्थव्यवस्था के बंद होने की आर्थिक लागत तेजी से बढ़ रही है.

रिपोर्ट में अनुमान जताया गया कि जी20 देशों की वृद्धि दर में सामूहिक रूप से 5.8 प्रतिशत की कमी होगी. यहां तक कि सुधार के बाद भी ज्यादातर अग्रणी अर्थव्यवस्थाओं की वृद्धि दर कोरोनावायरस महामारी से पहले वाले स्तर के मुकाबले कम रहने का अनुमान है.

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें


यह भी पढ़ें: अदालतों में दोषी ठहराए गए आईएएस, आईपीएस अधिकारियों के निलंबन की नहीं होगी समीक्षा, नियमों में होगा बदलाव


मूडीज ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि 2020 में चीन की वृद्धि दर एक प्रतिशत रह सकती है.

मूडीज ने कहा, ‘भारत ने देशव्यापी लॉकडाउन को 21 दिनों से बढ़ाकर 40 दिनों तक कर दिया, लेकिन अप्रैल के अंत में कृषि कार्यों के लिए ग्रामीण क्षेत्रों में प्रतिबंधों में छूट दी है. देश ने यह सुनिश्चित किया कि उसके कई हिस्से वायरस से मुक्त रहें. भारत ने विभिन्न क्षेत्रों को खोलने के लिए चरणबद्ध योजना बनाई है.’

share & View comments