Monday, 8 August, 2022
होमदेशगृह मंत्रालय ने NIA को दिए उदयपुर घटना की जांच के निर्देश

गृह मंत्रालय ने NIA को दिए उदयपुर घटना की जांच के निर्देश

ये फैसला उस समय लिया गया है जब मंगलवार को घटना के बाद एनआईए की टीम उदयपुर गई थी जिसमें डिप्टी इंस्पेक्टर जनरल (डीआईजी) रैंक के अधिकारी भी शामिल थे.

Text Size:

नई दिल्ली: गृह मंत्रालय ने नेशनल इनवेस्टिगेशन एजेंसी (एनआईए) को राजस्थान के उदयपुर में हुई क्रूर हत्या के मामले की जांच करने का निर्देश दिया है. मंगलवार को दो लोगों ने दिन दहाड़े एक व्यक्ति की गला काटकर हत्या कर दी थी.

गृह मंत्रालय कार्यालय (एचएमओ) ने ट्विटर पर घटना के एक दिन बाद इसकी घोषणा की. एचएमओ ने ट्वीट कर कहा, ‘गृह मंत्रालय को निर्देश दिया जाता है कि राजस्थान के उदयपुर में श्री कन्हैया लाल तेली की क्रूर हत्या के मामले की जांच करे.’

ट्वीट में एचएमओ ने ये भी कहा कि ‘किसी संगठन या अंतर्राष्ट्रीय लिंक’ की भी विस्तृत तौर पर जांच की जाएगी.

ये फैसला उस समय लिया गया है जब मंगलवार को घटना के बाद एनआईए की टीम उदयपुर गई थी जिसमें डिप्टी इंस्पेक्टर जनरल (डीआईजी) रैंक के अधिकारी भी शामिल थे.

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

सरकारी सूत्रों के अनुसार एनआईए की टीम यूएपीए कानून के प्रावधानों के तहत मामला दर्ज करेंगे.

ये घटना उदयपुर के मालदास क्षेत्र में मंगलवार को हुई थी. जिसके बाद दोनों आरोपियों ने सोशल मीडिया पर पोस्ट कर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी जान से मारने की धमकी दी थी. दोनों ही आरोपियों को घटना के कुछ ही घंटों बाद गिरफ्तार कर लिया गया है.

पुलिस के अनुसार एक आरोपी की पहचान रियाज़ अख्तर के तौर पर हुई है जिसने धारदार हथियार से कन्हैया लाल की हत्या की वहीं दूसरा आरोपी घोस मोहम्मद इस दौरान मोबाइल पर वीडियो बना रहा था.

पीड़ित दर्जी ने कथित तौर पर हाल ही में सोशल मीडिया पर नुपूर शर्मा के पैगंबर मोहम्मद पर दिए विवादास्पद बयान को लेकर समर्थन किया था.

सोशल मीडिया पर चल रहे वीडियो के अनुसार दोनों आरोपी धानमंडी थाना क्षेत्र स्थित टेलर की दुकान पर दोपहर के समय पहुंचे. इनमें से एक ने अपना नाम रियाज बताया है. उसने अपने आप को एक ग्राहक बताया और टेलर ने उसका नाप लेना शुरू कर दिया. इस दौरान उसने टेलर पर हमला कर दिया, वहीं दूसरे आरोपी ने मोबाइल फोन से घटना का वीडियो बनाया.

इस घटना के बाद स्थानीय बाजार बंद हैं और व्यापारी न्याय की मांग कर रहे हैं.

बता दें कि कानून-व्यवस्था बनाये रखने की दृष्टि से प्रदेशभर में आगामी 24 घंटे के लिए इंटरनेट बंद किए जाने, सभी जिलों में आगामी एक माह तक धारा 144 लागू करने, पुलिस एवं प्रशासन के सभी अधिकारियों के अवकाश निरस्त करने, शांति समिति की बैठक आयोजित करने और उदयपुर जिले में आवश्यकतानुसार कर्फ्यू लगाए जाने के निर्देश दिए हैं.


यह भी पढ़ें: नेता लोग तो नहीं, भारतीय सेना बेहतर प्रबंधन करके ‘अग्निवीरों’ को जरूर बचा सकती है


घटना जघन्य और बहुत बड़ी है: गहलोत

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बुधवार को कहा कि ये घटना बहुत बड़ी और जघन्य है.

उन्होंने कहा, ‘हमने इसीलिए एसआईटी गठित की है, एसआईटी ने अपना काम शुरू कर दिया है कल रात से ही, जयपुर पहुंचते ही लॉ एन्ड ऑर्डर को लेकर मीटिंग कर रहे हैं.’

गहलोत ने कहा, ‘ये जो खबरें आ रही हैं, जिसने हत्या की है उनके क्या प्लान थे, क्या षड्यंत्र था, किससे लिंक है, राष्ट्रीय-अंतर्राष्ट्रीय कोई ऐसी एजेंसी है क्या जिससे लिंक है, वो तमाम बातों का खुलासा होगा.’

उन्होंने कहा, ‘तो इसको हम उस गंभीरता से ले रहे हैं कि घटना कोई मामूली नहीं है और ऐसे हो नहीं सकती जब तक इसका कोई अंतर्राष्ट्रीय या राष्ट्रीय स्तर पर कुछ जो ऐसे रेडिकल एलिमेंट हैं, उससे लिंक नहीं हो तब तक ऐसी घटना होती ही नहीं है ये अनुभव कहता है, उसी रूप में इसकी जांच-पड़ताल शुरू की गई है.’


यह भी पढ़ें: उदयपुर कांड के बाद कई इलाकों में कर्फ्यू, सभी जिलों में अगले एक महीने तक धारा 144 लागू


 

share & View comments