rohit shekhar tiwari with his mother
अपनी मां के साथ रोहित शेखर तिवारी | ट्विटर
Text Size:
  • 88
    Shares

नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री रहे नारायण दत्त तिवारी के बेटे रोहित शेखर तिवारी का मंगलवार को निधन हो गया. उन्हें दक्षिणी दिल्ली के मैक्स अस्पताल में ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया. साउथ दिल्ली के डीसीपी विजय कुमार ने यह जानकारी दी है.

वहीं मैक्स अस्पताल के आधिकारिक बयान के मुताबिक दोपहर 4:41 बजे के बाद उन्हें रोहित शेखर तिवारी के घर से एक एमरजेंसी कॉल आई थी. एक एम्बुलेंस से उन्हें अस्पताल लाया गया, जहां एमरजेंसी वार्ड में उन्हें मृत घोषित कर दिया गया.

एनडी तिवारी का पुत्र साबित करने के लिए लंबी लड़ाई लड़नी पड़ी

रोहित शेखर तिवारी ने अपने आप को नारायण दत्त तिवारी का बेटा साबित करने के लिए करीब 6 साल तक कोर्ट में लंबी लड़ाई लड़ी थी. इसके लिए 2012 में 86 साल के पूर्व मुख्यमंत्री तिवारी को कोर्ट के आदेश पर अपना डीएनए टेस्ट कराना पड़ा था, जिसके बाद 2014 में यह साबित हो सका कि एनडी तिवारी ही 34 साल के रोहित के पिता हैं.

बता दें, रोहित 2008 में पहली बार एनडी तिवारी के खिलाफ अदालत गए थे. वहां उन्होंने दावा किया कि वो कांग्रेसी नेता तिवारी और मां उज्ज्वला शर्मा के पुत्र हैं. तिवारी उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड के मुख्यमंत्री रह चुके हैं. और पिछले साल लंबी बीमारी के बाद 93 वर्ष की आयु में उनका निधन हो गया था.


  • 88
    Shares
Share Your Views

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here