Saturday, 25 June, 2022
होमदेश'मनी-लॉन्ड्रिंग मामले में ED की पूछताछ के बाद बोले उमर अब्दुल्ला- मुझ पर कोई आरोप नहीं लगाया

‘मनी-लॉन्ड्रिंग मामले में ED की पूछताछ के बाद बोले उमर अब्दुल्ला- मुझ पर कोई आरोप नहीं लगाया

पार्टी ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर लिखा, जेकेएनसी के उपाध्यक्ष उमर अब्दुल्ला को दिल्ली में ईडी के सामने पेश होने को कहा गया था पार्टी ने कहा, ईडी की पूरी कार्रवाई राजनीति से प्रेरित है फिर भी उमर पूरा सहयोग करेंगे क्योंकि वह गलत नहीं है.

Text Size:

नई दिल्ली: प्रवर्तन निदेशालय मनी लांड्रिंग मामले में जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला से दिल्ली में पूछताछ कर रहा है.

प्रवर्तन निदेशालय के अधिकारी ने बताया कि यह पूछताछ जम्मू कश्मीर बैंक केस से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग के एक मामले को लेकर चल रही है. अधिकारियों ने बताया है कि उमर से सुबह 11 बजे से पूछताछ चल रही है.

उमर अब्दुल्ला से पूछताछ शुरू होने की बात सामने आते ही उनकी पार्टी ने भी बयान जारी किया है.

जम्मू-कश्मीर के पूर्व सीएम और एनसी नेता उमर अब्दुल्ला ने कहा, ‘उन्होंने (ईडी) मुझ पर कुछ भी आरोप नहीं लगाया. उन्होंने मुझे 12-13 साल पुराने एक मामले की चल रही जांच के सिलसिले में पूछताछ के लिए बुलाया. जितना हो सकता था मैंने उन्हें जवाब दिया. अगर उन्हें मेरी जरूरत होगी तो मैं उनकी और मदद करूंगा.’

नेशनल कॉन्फ्रेंस (नेकां) ने पार्टी नेता उमर अब्दुल्ला से पूछताछ करने के लिए प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के कदम की बृहस्पतिवार को निंदा करते हुए इसे पूर्व मुख्यमंत्री का ‘दुर्भावनापूर्ण अपमान’ और केंद्रीय जांच एजेंसी का निरंतर दुरुपयोग करार दिया.

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

पार्टी का यह बयान तब आया है जब केंद्रीय जांच एजेंसी ने दिल्ली में अब्दुल्ला से करीब 12 साल पहले जम्मू-कश्मीर बैंक द्वारा एक इमारत की खरीद के संबंध में पूछताछ की थी. नेकां के एक प्रवक्ता ने कहा कि एक समय था जब चुनाव आयोग द्वारा चुनावों की घोषणा की जाती थी लेकिन अब ऐसा लगता है कि ईडी द्वारा उनकी घोषणा की जाती है.

प्रवक्ता ने एक बयान में कहा, ‘हाल के वर्षों में हमने देखा है कि जहां भी राज्य के चुनाव होने हैं, ईडी जैसी एजेंसियां आगे बढ़ती हैं और उन पार्टियों को निशाना बनाती हैं जो भाजपा को चुनौती देती हैं.’

उन्होंने कहा कि उनके उपाध्यक्ष को समन भी उसी क्रम में है. प्रवक्ता ने कहा, ‘हमें इसमें कोई संदेह नहीं है कि इस ‘मछली फंसाने के अभियान’ से भाजपा को कोई ठोस परिणाम नहीं मिलेगा और जब भी आवश्यकता होगी लोग नेशनल कॉन्फ्रेंस को जोरदार समर्थन देंगे.’

प्रवक्ता ने कहा, ‘रमजान का पवित्र महीना होने और दिल्ली में उनका प्राथमिक निवास नहीं होने के बावजूद, अब्दुल्ला ने स्थगन या स्थान परिवर्तन की मांग नहीं की और नोटिस के अनुसार पेश हुए.’

पार्टी ने आरोप लगाया कि केंद्र सरकार ने ‘जांच एजेंसियों का दुरुपयोग करने की आदत बना ली है’ और अब्दुल्ला से आज की पूछताछ ‘उसी दिशा में एक और कदम’ था.

प्रवक्ता ने कहा, ‘भाजपा का सार्थक विरोध करने वाले किसी भी राजनीतिक दल को बख्शा नहीं गया है, चाहे वह ईडी, सीबीआई, एनआईए, एनसीबी हो – सभी का राजनीतिक उद्देश्यों के लिए उपयोग किया गया है.’

नेशनल कांफ्रेंस ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर लिखा, जेकेएनसी के उपाध्यक्ष उमर अब्दुल्ला को दिल्ली में ईडी के सामने पेश होने को कहा गया था और इसके पीछे कारण बताया गया था कि एक जांच के लिए यह पेशी जरूरी है.’

पार्टी ने आगे कहा, ‘ईडी की पूरी कार्रवाई राजनीति से प्रेरित है फिर भी उमर पूरा सहयोग करेंगे क्योंकि वह गलत नहीं.’ है.

केंद्रीय एजेंसियों ने ऋण और निवेश को मंजूरी देने में कथित अनियमितताओं के लिए 2021 से जम्मू और कश्मीर बैंक की जांच कर रही है.

केंद्रीय जांच ब्यूरो ने मामले में बैंक के पूर्व अध्यक्ष मुश्ताक अहमद शेख के खिलाफ भी मामला दर्ज किया है.

ईडी ने कथित घोटाले में सीबीआई की पहली जांच रिपोर्ट के बाद धन शोधन निवारण अधिनियम के तहत मामला शुरू किया.


यह भी पढ़ें: अजित पवार ने लाउडस्पीकर को लेकर राज ठाकरे की टिप्पणी पर पूछा: यह विभाजन क्यों


 

share & View comments