news on crime
सीएमएसटी पर बने फुट ओवरब्रिज का ढहा हुआ दृश्य | सोशल मीडिया
Text Size:

नई दिल्लीः छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस रेलवे के नजदीक गुरुवार शाम को एक फुट ओवरब्रिज गिरने से पांच लोगों की मौत हो गई और कुछ की हालत गंभीर है. काफी संख्या में लोग घायल हुए हैंं. मुंबई पुलिस के अनुसार घायल लोगों को अस्पताल पहुंचाया जा रहा है. मलबे में कुछ लोगों के दबे होने की भी आशंका है. हादसे से यातायात प्रभावित हुआ है. यात्रियों को वैकल्पिक मार्ग से निकाला जा रहा है. वरिष्ठ अधिकारी मौके पर पहुंच चुके हैं. पुलिस और एनडीआरएफ की टीम मौके पर राहत और बचाव कार्य कर रही है.

मुंबई पुलिस घायलों की संख्या 23 बता रही है जबकि यह संख्या ज्यादा हो सकती है. हादसे के दौरान मौके पर मौजूद लोगों ने बताया कि वहां काफी लोग मौजूद थे. यह ब्रिज प्लेटफार्म बीटी लेन के पास है. घटना स्थल पर काफी लोगों की भीड़ जमा हो गई है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुंबई के ओवरब्रिज हादसे पर कहा कि उन्हें गहरा दुख पहुंचा है. मेरी भावनाएं शोक-संतप्त परिवार के साथ है. कामना करता हूं कि घायल हुए लोग जल्दी ठीक हों. प्रभावित लोगों को महाराष्ट्र सरकार हरसंभव मदद पहुंचाने का प्रयास कर रही है.

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि टाइम्स ऑफ इंडिया की बिल्डिंग के नजदीक फुट ओवरब्रिज गिरने की घटना को सुनकर दुखी हुआ. बीएमसी कमिश्नर, मुंबई पुलिस को निर्देश दिया है कि वह रेलवे अधिकारियों के साथ मिलकर राहत कार्य को तेज करे.

इसके अलावा सीएम ने मारे गये लोगों के प्रत्येक परिवार को 5-5 लाख और घायलों को 50-50 हजार रुपये अनुग्रह राशि देने की घोषणा के साथ घायलों के इलाज का खर्च राज्य सरकार की ओर से उठाने को कहा है.

वहीं घटना को लेकर आरोप प्रत्यारोप का दौर शुरू हो गया है. 2019 लोकसभा चुनाव की तिथियां घोषित हो चुकी हैं. जाहिर है कि यह मुद्दा बनेगा. मुंबई महानगरपालिका पर लोग सवाल खड़ा कर रहे हैं. रेलवे विभाग ने कहा है कि ब्रिज बीएमसी के अधीन है. हम राहत व बचाव कार्य में मदद कर रहे हैं.

लोकल बीजेपी एमएलए राज पुरोहित ने घटना पर कहा है कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है, ऐसा नहीं होना चाहिए था. उस इंजीनियर के खिलाफ एक्शन लिया जाना चाहिए, जिसने इसकी परमिशन दी, उसे गिरफ्तार किया जाना चाहिए. उस पर दंडात्मक कर्रवाई होनी चाहिए.

बीएमसी (ब्रिहन्मुंबई कॉर्पोरेशन) की आपदा प्रबंधन इकाई (डीएमयू) ने जानकारी दी है कि हादसे में कुल पांच लोग मारे गये हैं.

वहीं महाराष्ट्र सरकार में मंत्री विनोद तावड़े ने कहा राज्य सरकार घायलों का इलाज करायेगी. ब्रिज का एक स्लैब गिरा है. बीएमसी और रेलवे इसके मेंटिनेंस की जांच करेगा. ब्रिज बुरे हालत में नहीं था. इसकी थोड़ी रिपेयर की जरूरत थी, जो कि चल रही थी. काम पूरे होने तक इसे बंद क्यों नहीं किया गया यह भी जांच होगी.

यह वही ब्रिज है जिससे 26 नवंबर 2008 को मुंबई में हुए आतंकी हमले में गोलीबारी करने वाला आतंकी मोहम्मद अजमल कसाब गुजरा था.

गौरतलब है कि इससे पहले भी मुंबई में ब्रिज ढहने के  हादसे होते रहे हैं. 29 सितंबर 2017 को मुंबई के एलफिंस्टन रेलवे स्टेशन पर बना ओवरिब्रज ढह गया था. इस दौरान भगदड़ में काफी लोग मारे गये थे. मुंबई प्रशासन को इस तरह की घटनाओं पर जल्द ध्यान देना चाहिए. सभी ओवरब्रिज की सुरक्षा सुनिश्चित करनी चाहिए. बीएमसी बार-बार हो रही इस तरह घटनाओं को रोकने में नाकाम रहा है, जिससे लोगों को अपना जीवन खतरे में डालना पड़ रहा है.

 


Share Your Views

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here