chandrababu naidu- rahul gandhi
चंद्रबाबू नायडू को समर्थन देने पहुंचे राहुल गांधी/सूरज बिष्ट
Text Size:
  • 28
    Shares

नई दिल्ली: आंध्र प्रदेश को विशेष दर्जा दिलाने की मांग को लेकर सोमवार को मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू एक दिन के अनशन पर बैठे हैं. चंद्रबाबू नायडू सुबह आठ बजे से रात आठ बजे तक एक दिन की भूख हड़ताल है. नायडू के धरने को सफल बनाने और उन्हें समर्थन देनें राहुल गांधी आंध्र भवन पहुंचे. राहुल ने कहा कि मैं आंध्र प्रदेश के लोगों के साथ खड़ा हूं. उन्होंने मंच से नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा.

राहुल ने कहा कि मोदी जी ने आंध्र प्रदेश से किया वादा पूरा नहीं किया. मोदी कहीं भी जाते हैं सिर्फ और सिर्फ झूठ बोलते हैं, उनकी कोई विश्वसनीयता नहीं बची है. उन्होंने इस दौरान मीडिया से बातचीत करते हुए राफेल डील घोटाले पर भी पीएम मोदी को आड़े हाथों लिया. उन्होंने ‘द हिंदू’ अखबार की राफेल सौदे मामले में छपी खबर का हवाला देते हुए कहा कि हर रक्षा सौदे में भ्रष्टाचार विरोधी खंड होता है. द हिंदू ने खबर दी है कि पीएम ने भ्रष्टाचार विरोधी क्लॉज को ही हटा दिया इससे साफ जाहिर है कि पीएम ने ही इस पूरे सौदे में लूट के लिए रास्ता खोल दिया है. इस मौके पर चंद्रबाबू के समर्थन में जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारुक अब्दुल्ला भी पहुंच गए हैं.

आंध्र प्रदेश को विशेष दर्जा दिलाने की मांग को लेकर सोमवार को मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू धरने पर बैठे हैं. चंद्रबाबू नायडू की यह भूख हड़ताल एक दिन की है. उनके साथ उनके मंत्रालय और पार्टी के भी कई नेता बैठे हैं. नायडू के धरने को सफल बनाने के लिए महागठबंधन के कई नेताओं के धरनास्थल पर पहुंचने की उम्मीद है.

काली कमीज में धरने पर बैठे चंद्रबाबू नायडू

धरने पर बैठने के दौरान विरोध स्वरूप काली कमीज पहनी है. आंध्र भवन में धरने पर बैठे चंद्रबाबू नायडू ने कहा,’ आज हम केंद्र सरकार से अपने राज्य को विशेष राज्य का दर्जा दिलाने की मांग के साथ धरने पर बैठे हैं. उनसे पिछले कई वर्षों से राज्य को विशेष दर्जा दिए जाने की मांग की जा रही है. उन्होंने धरने पर बैठते हुए कहा कि हम जानते हैं कि हमें अपनी मांग कैसे पूरी करानी है.

धरना शुरू करने से पहले चंद्रबाबू नायडू राजघाट गए और वहां उन्होंने महात्मा गांधी को पुष्पाजंलि अर्पित की. टीडीपी प्रमुख और प्रदेश के मुखिया नायडू अपने राज्य को विशेष दर्जा दिलाने, राज्य पुनर्गठन अधिनियम, 2014 के तहत केंद्र द्वारा किए गए वादों को पूरा करने की मांग को लेकर दिल्ली में हड़ताल कर रहे हैं. बता दें कि नायडू अपने साथ दो विशेष ट्रेन से राज्य की जनता भी लाए हैं.

नायडू के साथ 12 घंटे लंबे विरोध प्रदर्शन में बड़ी संख्या में प्रदर्शनकारी भी शामिल हुए हैं. वे राज्य सरकार द्वारा किराए पर ली गई दो विशेष रेलगाड़ियों द्वारा राष्ट्रीय राजधानी पहुंचे. कई गैर-भाजपा दलों के नेताओं से नायडू से मिलने और उनके साथ एकजुटता व्यक्त करने की उम्मीद है.

तेदेपा ने पिछले साल भाजपा की अगुवाई वाली राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) सरकार से समर्थन वापस ले लिया था. नायडू मंगलवार को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को एक ज्ञापन सौंपेंगे.

(आईएएनएस इनपुट्स के साथ)


  • 28
    Shares
Share Your Views

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here