scorecardresearch
Friday, 12 July, 2024
होमदेशएनडीसी में सभी क्षेत्रों या गैसों को अनिवार्य रूप से शामिल नहीं किया जाना चाहिए: भारत

एनडीसी में सभी क्षेत्रों या गैसों को अनिवार्य रूप से शामिल नहीं किया जाना चाहिए: भारत

Text Size:

नयी दिल्ली, सात जून (भाषा) भारत ने बॉन जलवायु सम्मेलन में कहा कि यह जरूरी नहीं कि राष्ट्रीय स्तर पर निर्धारित योगदान (एनडीसी) में सभी क्षेत्र या गैस शामिल हों।

भारत का यह रुख अमेरिका समेत कुछ विकसित देशों के व्यापक, अर्थव्यवस्था-व्यापी एनडीएस को 1.5-डिग्री सेल्सियस लक्ष्य के अनुरूप तय करने के आह्वान के विपरीत है।

भारत ने जलवायु विज्ञान में उपयोग किए जाने वाले मौजूदा मॉडल और परिदृश्यों को लेकर भी संदेह व्यक्त किया।

उसने कहा, ‘‘वैज्ञानिक साहित्य में वर्तमान में जो मॉडल और परिदृश्य मौजूद हैं, उनकी बारीकी से इस संदर्भ में जांच नहीं की गई है कि क्या उनके अनुमान विकासशील देशों की जरूरतों, उनके अधिकारों और आकांक्षाओं के अनुरूप हैं।’’

भाषा सिम्मी सुरेश

सुरेश

यह खबर ‘भाषा’ न्यूज़ एजेंसी से ‘ऑटो-फीड’ द्वारा ली गई है. इसके कंटेंट के लिए दिप्रिंट जिम्मेदार नहीं है.

share & View comments