Monday, 17 January, 2022
होमदेशचुराचांदपुर हमले में पांच जवान समेत 7 की मौत, राहुल ने कहा 'मोदी सरकार राष्ट्र की सुरक्षा करने में असमर्थ'

चुराचांदपुर हमले में पांच जवान समेत 7 की मौत, राहुल ने कहा ‘मोदी सरकार राष्ट्र की सुरक्षा करने में असमर्थ’

मणिपुर के मुख्यमंत्री एन बीरेन सिंह हमले में घायल जवान से मिलने के लिए अस्पताल पहुंचे और कहा कि मारे गए जवानों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा.

Text Size:

नई दिल्ली: केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि मणिपुर के चुराचांदपुर में शनिवार को असम राइफल्स के एक काफिले पर हमले में कमांडिंग ऑफिसर (सीओ) सहित पांच जवान शहीद हो गए. हमले में सीओ के परिवार के दो सदस्यों की भी मौत हुई है.

राजनाथ सिंह ने इसे ‘कायरतापूर्ण’ हमला बताते हुए कहा कि इसके दोषियों को जल्द ही न्याय के कटघरे में लाया जाएगा. रक्षा मंत्री ने ट्वीट किया, ‘मणिपुर के चुराचांदपुर में असम राइफल्स के काफिले पर कायराना हमला बेहद दुखद और निंदनीय है. देश ने 46वीं असम राइफल्स के सीओ सहित पांच बहादुर सैनिकों और उनके परिवार के दो सदस्यों को खो दिया है. ‘शोक में डूबे परिवारों के प्रति मेरी संवेदनाएं. दोषियों को जल्द ही न्याय के कटघरे में लाया जाएगा.’

 

वहीं, मणिपुर के मुख्यमंत्री एन बीरेन सिंह ने अस्पताल पहुंचे और असम राइफल्स के अधिकारियों से मुलाकात की. उन्होंने ट्वीट किया कि ‘शिजा अस्पताल में असम राइफल्स के अधिकारियों से मुलाकात की और चुराचांदपुर में आज की घटना में घायल हुए जवानों का हाल जाना. उनके जल्द स्वस्थ होने की कामना करता हूं.’

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें


यह भी पढ़ें: BJP सरकार के पूर्व CM एनडी तिवारी को पुरस्कार देने पर गुस्से में क्यों है उत्तराखंड कांग्रेस


मुख्यमंत्री ने एक और ट्वीट में लिखा कि मारे गए जवानों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा. उन्होंने ट्वीट किया कि ‘आज घात लगाकर किए गए दुर्भाग्यपूर्ण हमले में बुरी तरह घायल हुए एक जवान से मिलने के लिए अस्पताल गया. मैंने अपने अधिकारियों और अस्पताल के कर्मचारियों को जवान के लिए श्रेष्ठ मेडिकल देखभाल देने के निर्देश दिए हैं. हमारे जवानों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा.’

 

इससे पहले उन्होंने कहा कि राज्य के सुरक्षा बल और अर्द्धसैन्य बल पहले से ही उग्रवादियों का पता लगाने के लिए काम कर रहे हैं. उन्होंन ट्वीट कर बताया था कि ’46 एआर के काफिले पर कायर हमले की कड़ी निंदा करता हूं जिसमें आज सीसीपुर में सीओ और उनके परिवार समेत कुछ कर्मचारियों की मौत हो गई है. राज्य और अर्धसैनिक बल पहले से ही उग्रवादियों को पकड़ने के लिए काम कर रहे हैं. अपराधियों को न्याय की जद में लाया जाएगा.’

 

उधर, कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने हमले की निंदा करते हुए कहा कि मोदी सरकार राष्ट्र की सुरक्षा करने में असमर्थ है. उन्होंने ट्वीट किया कि ‘मणिपुर में सेना के क़ाफ़िले पर हुए आतंकी हमले से एक बार फिर साबित होता है कि मोदी सरकार राष्ट्र की सुरक्षा करने में असमर्थ है. शहीदों को मेरी श्रद्धांजलि व उनके परिवारजनों को शोक संवेदनाएँ। देश आपके बलिदान को याद रखेगा.’

बता दें कि यह घटना म्यांमा सीमा से लगे चुराचांदपुर जिले में हुई थी. अभी तक किसी उग्रवादी संगठन ने इस हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है.


यह भी पढ़ें:हे देशप्रेमियों, MTI को बीमारी मानना भाषायी रंगभेद है, अंग्रेजी को अपनी भाषा की तरह ओढ़िए-बिछाइए


 

share & View comments