scorecardresearch
Wednesday, 17 July, 2024

अलमिना खातून

Avatar
87 पोस्ट0 टिप्पणी

मत-विमत

सोशल इंजीनियरिंग और जातिगत राजनीति बिहार के विकास को कैसे कर रही कमज़ोर

इस तरह राजनीति के जातिकरण ने जातियों के राजनीतिकरण की प्रगतिशीलता को कुंद करके उसे सिर के बल खड़ा कर दिया है. फलस्वरूप बिहार पूरी तरह प्रतिगामी राजनीति और जातिगत संकीर्णता में फंसकर प्रगति के मार्ग से भटक गया है.

वीडियो

राजनीति

देश

रिहाई रोकने के लिए सीबीआई ने मुझे गिरफ्तार किया : केजरीवाल

नयी दिल्ली, 17 जुलाई (भाषा) मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बुधवार को दिल्ली उच्च न्यायालय में कहा कि आबकारी ‘घोटाला’ मामले में उनकी रिहाई को...

लास्ट लाफ

सुप्रीम कोर्ट का सही फैसला और बिलकिस बानो की जीत

दिप्रिंट के संपादकों द्वारा चुने गए दिन के सर्वश्रेष्ठ कार्टून.